रोहतक मिल द्वारा एक और पांच किलोग्राम की छोटी पैकिंग में चीनी का ट्रायल उत्पादन शुरू

924

रोहतक: कोरोना वायरस प्रकोप ने चीनी उद्योग को भी काफी बड़ी आर्थिक कठिनाईयों डाला है, लॉकडाउन के कारण घरेलू और वैश्विक बाज़ार में चीनी बिक्री बिल्कुल धीमी हो गई है। जिसके कारण मिलों के सामने राजस्व तरलता की समस्या निर्माण हुई है, और बकाया भुगतान देने भी मुश्किल हो रहा है। इसके चलते कई सारी मिलें राजस्व उत्पन्न करने के नए नए तरीकें ढूंढ रही है। रोहतक मिल भी अब एक और पांच किलोग्राम की पैकिग में भी चीनी बेचने के लिए तैयार है। मिल द्वारा उत्पादन ट्रायल के तौर पर किया जा रहा है।

दैनिक जागरण में प्रकाशित खबर के मुताबिक, चीनी मिल भाली आनंदपुर रोहतक के प्रबंधन निदेशक मानव मलिक ने बताया कि, मिल ने मार्केट में मांग को देखते हुए पांच किलोग्राम व एक किलोग्राम की छोटी पैकिग में चीनी का ट्रायल उत्पादन शुरू किया है। जल्द ही मार्केट में रोहतक मिल की चीनी छोटी पैकिग में भी उपलब्ध होगी।

आपको बता दे, आइसक्रीम, कोल्डड्रिंक और चॉकलेट जैसे विविध प्रकार के उत्पादों के कन्फेक्शनरों और निर्माताओं से औद्योगिक इस्तेमाल के लिए मांग में गिरावट के कारण चीनी की बिक्री ठप है। इसके अलावा चीनी के उप-उत्पाद की बिक्री भी धीमी है जिससे चीनी मिलों के सामने राजस्व की समस्या पैदा हुई है। मार्च और अप्रैल में चीनी की बिक्री लॉकडाउन के कारण एक मिलियन टन कम थी। चीनी बिक्री न होने से चीनी मिलों के सामने गन्ना भुगतान करने की भी चिंता है।

एक और पांच किलोग्राम की छोटी पैकिंग में चीनी का ट्रायल उत्पादन यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here