कर्नाटक: कोरोना महामारी के कारण ग्रामीण कृषि गतिविधियां प्रभावित…

161

मैसूरु: कोरोना महामारी के प्रकोप ने कृषि गतिविधियों को प्रभावित करना शुरू कर दिया है। किसानों ने कहा कि, ग्रामीण इलाकों में स्थिति ऐसी है कि, बुवाई के लिए जमीन की तैयारी शुरू करने या यहां तक कि गर्मियों की फसलों की कटाई के लिए श्रमिकों का मिलना मुश्किल हो रहा है। कर्नाटक गन्ना किसान संघ के अध्यक्ष कुरुबुर शांताकुमार ने कहा कि, गांवों में लोग COVID-19 प्रसार के कारण बाहर से श्रमिकों को काम पर रखने के लिए अनिच्छुक हैं।

मैसूरु में कृषि के संयुक्त निदेशक महंतेशप्पा ने कहा कि, COVID -19 का उछाल आने वाले दिनों में कृषि गतिविधियों को प्रभावित कर सकता है। लेकिन बुवाई के अलावा गर्मियों की फसलों की कटाई सहित अन्य कृषि गतिविधियाँ हैं, जो मजदूरों के अभाव में प्रभावित होने की संभावना है। खेती के काम के लिए आस-पास के गांवों के श्रमिकों को काम पर रखना एक आम बात है, लेकिन अब श्रमिक रोज़गार की तलाश में अपने गाँवों से बाहर जाने के लिए अनिच्छुक हैं। साथ ही गांवों में स्थानीय निवासी कोरोना महामारी के डर से अन्य स्थानों से आनेवाले श्रमिकों की उपस्थिति पर आपत्ति जता रहे हैं। शांताकुमार ने कहा कि, गांवों में लोग परीक्षण और अलगाव से बचने के लिए बीमारी छिपा रहे हैं, जो स्थिति को और खराब कर रहा है। मैसूरु जिले में गुरुवार को 16,026 एक्टिव COVID-19 मामले थे, जिनमें से 10,104 शहर में हैं। बाकी तालुकों में फैले हुए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here