सांगली : मिलों द्वारा गन्ना तौल में गडबडी, ‘बेहिसाब’ चीनी का काला बाज़ार…

89

सांगली : गन्ना किसानों की चौतरफा लुट की जा रही है। एक तरफ जहां गन्ना कटाई मजदूर किसानों से पैसे ऐंठ रहें है, वहीं दूसरी तरफ चीनी मिलों द्वारा गन्ना तौल में गडबडी करने की शिकायते हो रही है। कुछ मिलों द्वारा ‘बेहिसाब’ चीनी का काला बाज़ार हो रहा है, और इससे मिलर्स करोड़ों का धन जुटा रहें है। इस धांधली का सबसे बड़ा खामियाजा किसानों को भुगतना पड़ रहा है।कुछ मिलर्स ईमानदारीपूर्वक पेराई कर रहें है, हालांकि उनकी संख्या काफी कम है।जिले की 16 मिलों में 14 मिलें हर दिन लगभग 70 हजार टन गन्ने की पेराई करती है।कुछ मिलें गन्ना तौल में ‘बेहिसाब’ गडबडी कर रही है।जिले में हर दिन तकरीबन 5 हजार टन का गन्ना तौल घोटाला होने का अनुमान लगाया जा रहा है।जिससे किसानों को हर दिन लगभग डेढ़ करोड़ रूपयें का ‘चुना’ लगाया जा रहा है।कम्पूटर सॉफ्टवेयर में बदलाव, इलेक्ट्रिक रिमोट सेंसर के इस्तेमाल से वजन घटाकर तौल में गडबडी की जाती है।तौल अधिकारी मिल के गेट पर पहुंचते ही सब ‘ठीकठाक’ किया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here