हरियाणा: सरस्वती मिल ने शुरू किया चालू पेराई सीजन का गन्ना भुगतान

112

यमुनानगर: सरस्वती चीनी मिल ने गुरुवार को गन्ना किसानों का बकाया चुकाने के लिए प्रक्रिया शुरू की। शुरुआत में, मिल 21 दिसंबर तक आपूर्ति किए गए गन्ने के लिए 95 करोड़ रुपये का भुगतान करेगा। मिल ने 24 नवंबर को पेराई अभियान शुरू किया था, और 37 दिनों के बाद भुगतान कर रही है। पंजाब गन्ना (खरीद और आपूर्ति का विनियमन) अधिनियम के एक प्रावधान के अनुसार, चीनी मिलों को आपूर्ति की तारीख से 14 दिनों के भीतर गन्ना मूल्य भुगतान करने की आवश्यकता होती है।

ट्रिब्यून इंडिया डॉट कॉम में प्रकाशित खबर के मुताबिक, मिल के वरिष्ठ उपाध्यक्ष (गन्ना) डीपी सिंह ने कहा की, हमने गन्ना किसानों का बकाया भुगतान करना शुरू किया। सबसे पहले हम 21 दिसंबर तक मिल को गन्ना आपूर्ति करने वाले किसानों के भुगतान को मंजूरी दे रहे हैं। जानकारी के अनुसार मिल ने 30 दिसंबर तक लगभग 36 लाख क्विंटल गन्ने की पेराई की है।

डीपी सिंह ने कहा कि, वे मिल के किसानों और कर्मचारियों की सुरक्षा के लिए covid -19 प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन कर रहे है। हम किसानों को सड़क सुरक्षा के बारे में भी जागरूक कर रहे हैं। हमारी टीमें कोहरे के दौरान दुर्घटनाओं को रोकने के लिए गन्ना किसानों के ट्रैक्टर-ट्रेलर पर रिफ्लेक्टर लगा रही हैं। हरियाणा सरकार ने इस साल गन्ने की दर में 10 रुपये प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here