सह्याद्री चीनी मिल ने की 100 प्रतिशत गन्ना पेराई

943

सातारा : चीनी मंडी

सह्याद्री सहकारी चीनी मिल में किसी भी चुनौती का सामना करने की क्षमता है, और इसी क्षमता के बलबूते पर ही कोरोना वायरस जैसी चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में भी मिल ने 100 प्रतिशत पेराई पूरी कर ली है। 2019-20 के पेराई में मिल ने 11,94,692 मीट्रिक टन गन्‍ना पेराई के साथ 14,83,600 क्विंटल चीनी का उत्पादन किया। किसानों को प्रति टन 2,855 रुपये एफआरपी दी गई है। सह्याद्री मिल के अध्यक्ष तथा सहकारिता और विपणन मंत्री बाळासाहेब पाटिल ने संवाददाता सम्मेलन में जानकारी यह जानकारी दी।

हर साल पूजा करने और सभी परिवहनकर्ताओं, सुरक्षा गार्डों और कर्मियों को उचित सम्मान और पुरस्कार देकर सह्याद्री मिल के सीजन का समापन किया जाता है। लेकिन इस बार कोरोना वायस के विकट स्थिति के कारण सीजन साधारण तरीके से समाप्त हो गया।

मंत्री बालासाहेब पाटिल ने कहा कि, कोरोना के कारण लॉकडाऊन से किसानों को काफी मुश्किल हुई, क्योंकि लॉकडाऊन के ऐलान के वक्‍त लगभग 25 प्रतिशत गन्ना खेत में बचा था। हालांकि, किसानों के हित को ध्यान में रखते हुए, मिल ने उचित उपाय किए और 2 लाख 70 हजार मीट्रिक टन गन्‍ने कि पेराई की। मार्च में अन्य मिलें बंद हो गई, लेकिन सह्याद्री मिल ने मई की शुरुआत तक 100 प्रतिशत गन्ने की पेराई की। जब मजदूरों ने घर छोड़ने की मांग की तो उन्हें आश्वस्त किया गया और उन्हें गेहूं, चावल, साबुन और मास्क जैसे जरुरी चीजें दिए गए। इसलिए मिल के सभी अधिकारियों, कर्मचारियों, कटर, ट्रांसपोर्टरों के प्रयासों के वजह से ही हम सीजन को सफल बनाने में कामयाब हुए। इस अवसर पर कार्यकारी निदेशक आबासाहेब पाटिल, आर.जी. तांबे, मोहनराव पाटिल, वी. बी.चव्हाण उपस्थित थे।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here