“वैज्ञानिक खेती से गन्ना उत्पादन 3 गुना बढ़ा”

137

नई दिल्ली/लखनऊ: खेती में वैज्ञानिक तकनीकों का उपयोग करने के लिए एक किसान की सराहना करते हुए, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को हरदोई जिले के अरविंद कुमार के साथ अपनी डिजिटल बातचीत के बारे में ट्वीट किया और कहा कि, खेती में वैज्ञानिक तकनीकों का उपयोग करने से न केवल उनके खेतों में गन्ने का उत्पादन तीन गुना बढ़ा है, साथ ही चीनी मिलों में इथेनॉल संयंत्रों ने उनके जीवन को और आसान बना दिया है। प्रधानमंत्री मोदी ने किसान अरविंद कुमार को पूरी तरह से जैविक खेती करने और पृथ्वी को बचाने के लिए सिंचाई सौर पंप का उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित किया।

पीएम ने कुमार से पूछा कि क्या चीनी मिल जहां वह अपनी उपज बेचते हैं, उसने इथेनॉल संयंत्र स्थापित किया है। मोदी ने कहा की, हम अनुरोध कर रहे हैं कि यदि गन्ना उत्पादकों का भविष्य सुरक्षित करना है तो हमें गुड़ और चीनी से परे सोचना होगा और यही कारण है कि हम इथेनॉल पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि, गन्ने के बंपर उत्पादन और उत्पादन में गिरावट दोनों से किसान प्रभावित होते हैं। कुमार ने कहा कि, इथेनॉल गन्ना उत्पादकों के लिए एक बड़ा बदलाव लेकर आया है, जो मिलों से समय पर भुगतान करने में मददगार साबित होगा। सरकार इसे मिलों से खरीदती है और तुरंत भुगतान करती है। इसके अलावा, यह पेट्रोल के साथ मिलाया जाता है और इससे पर्यावरण में सुधार होती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here