बाजार में तेजी बरकरार, सेंसेक्स 36,000 के ऊपर

204

मुंबई, 10 जुलाई (भाषा) बाजार में तेजी का सिलसिला आज तीसरे दिन भी जारी रहा और बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 305 अंक उछलकर 36,000 अंक के स्तर को फिर से प्राप्त कर लिया। नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी भी 10,900 के स्तर पर बंद हुआ।
कारोबारियों के अनुसार कंपनियों के उत्साहजनक वित्तीय परिणाम को देखते हुए निवेशकों ने बाजार में दांव लगाया और सूचकांक पांच महीने के उच्च स्तर पर चला गया। घरेलू संस्थागत निवेशकों (डीआईआई) की लिवाली तथा कंपनियों के बेहतर वित्तीय परिणाम से धारणा मजबूत हुई।
बीएसई स्वास्थ्य को छोड़कर ऊर्जा, रीयल्टी तथा दूरसंचार समेत सभी क्षेत्रवार सूचकांक लाभ के साथ बंद हुए।
वित्तीय सेवा से जुड़ा एचडीएफसी समूह की सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 10 लाख करोड़ रुपये के ऊपर पहुंच गया। टाटा के बाद यह दूसरा भारतीय कारोबारी समूह है जिसने यह ऊंचाई हासिल की।
तीस शेयरों वाला सेंसेक्स 304.90 अंक या 0.85 प्रतिशत उछलकर 36,239.62 अंक पर बंद हुआ। एक समय यह 36,274.33 अंक तक चला गया था।
कुल मिलाकर तीन कारोबारी सत्रों में सेंसेक्स 665.07 अंक मजबूत हो चुका है।
सेंसेक्स रिकार्ड स्तर से थोड़ा ही नीचे है।इस साल 29 जनवरी को यह रिकार्ड 36,283.25 अंक पर बंद हुआ था।
नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी भी 94.35 अंक या 0.87 प्रतिशत की बढ़त के साथ 10,947.25 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह 10,956.90 से 10,876.65 अंक के दायरे में रहा।
पूरे कारोबार के दौरान सेंसेक्स और निफ्टी क्रमश: 36,000 और 10,900 अंक से ऊंपर रहे। हाल में नरम रुख के बाद यह मजबूत निवेशक धारणा को बताता है।
देश में यात्री वाहनों की बिक्री जून महीने में 37.54 प्रतिशत की मजबूत वृद्धि से वाहनों कंपनियों के शेयरों में तेजी रही। पिछले 10 साल में किसी एक महीने में बिक्री में यह तीव्र वृद्धि है।
टीसीएस का जून-तिमाही का परिणाम आने से पहले शेयर 0.56 प्रतिशत नीचे आया।
इस बीच, अस्थायी आंकड़ों के अनुसार घरेलू संस्थागत निवेशकों (डीआईआई) ने कल 740.39 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर खरीदे जबकि विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) ने 569.91 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर बेचे।
जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘…निवेशकों की नजर अब कंपनियों के परिणाम पर है। कंपनियों के वित्तीय नतीजे बेहतर रहने से कई मझोली कंपनियों के शेयरों का मूल्यांकन फिर से हो पाएगा। हाल में गिरावट से ये शेयर सर्वाधिक प्रभावित हुए।’’
उन्होंने कहा, ‘‘हालांकि रुपये की विनिमय दर में गिरावट तथा बांड पर रिटर्न बढ़ने से जून में खुदरा मुद्रास्फीति के बढ़ने की आशंका है।’’
रिलायंस इंडस्ट्रीज का शेयर सेंसेक्स कंपनियों के बीच सर्वाधिक 3.02 प्रतिशत मजबूत हुआ।
लाभ में रहने अन्य प्रमुख शेयरों में यस बैंक (2.58 प्रतिशत), कोल इंडिया (2.56 प्रतिशत), बजाज आटो (2.36 प्रतिशत), विप्रो (2.26 प्रतिशत), टाटा स्टील (2.11 प्रतिशत), एनटीपीसी (1.82 प्रतिशत) तथा मारुति सुजुकी (1.72 प्रतिशत) शामिल हैं।
वहीं दूसरी तरफ इंडस इंड बैंक (एक प्रतिशत), कोटक बैंक (0.96 प्रतिशत), सन फार्मा (0.96 प्रतिशत), हीरो मोटो कार्प (0.83 प्रतिशत), एचयूएल (0.40 प्रतिशत) तथा पावर ग्रिड (0.24 प्रतिशत) में गिरावट दर्ज की गयी।
वैश्विक मोर्चे पर बाजार में तेजी रहा। जापान को निक्केई 0.66 प्रतिशत, सिंगापुर 1.27 प्रतिशत तथा शंघाई कंपोजिट 0.44 प्रतिशत मजबूत हुए। हांगकांग का हैंग सेंग स्थिर रहा।
यूरोप में शुरूआती कारोबार में पेरिस सीएसी 0.20 प्रतिशत, फ्रैंकफर्ट डीएएक्स 0.30 प्रतिशत तथा लंदन का एफटीएसई 0.10 प्रतिशत मजबूत हुए।

SOURCEPTI

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here