बिकवाली दबाव से सेंसेक्स 250 अंक टूटा, मौद्रिक समीक्षा नहीं बढ़ा सकी उत्साह

472
मुंबई, पांच दिसंबर (भाषा) बंबई शेयर बाजार में बिकवाली दबाव से बुधवार को लगातार दूसरे दिन गिरावट रही जिससे सेंसेक्स 250 अंक टूट गया। अमेरिका चीन के बीच व्यापार विवाद फिर उभरता दिख रहा है। इसकी चिंता में वैश्विक बाजारों में बिकवाली का सिलसिला चला।
भारतीय रिजर्व बैंक ने चालू वित्त वर्ष की पांचवीं द्विमासिक मौद्रिक समीक्षा में नीतिगत दरों को यथावत रखा। इससे बाजार में गिरावट का रुख रहा। बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 249.90 अंक या 0.69 प्रतिशत के नुकसान से 35,884.81 अंक पर आ गया। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 84.55 अंक या 0.74 प्रतिशत गिरकर 10,800 अंक से नीचे 10,784.95 अंक पर बंद हुआ।
धातु, फार्मा, वाहन और बैंकिंग शेयरों में बिकवाली से बाजार नीचे आया। रिजर्व बैंक ने बुधवार को चालू वित्त वर्ष की पांचवीं द्विमासिक मौद्रिक समीक्षा में रेपो दर को 6.5 प्रतिशत पर यथावत रखा। यह लगातार दूसरा मौका है जबकि केंद्रीय बैंक ने नीतिगत दरों में बदलाव नहीं किया। डॉलर के मुकाबले रुपये में गिरावट से भी यहां बाजार धारणा प्रभावित हुई। अंतर बैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में दिन में कारोबार के दौरान रुपया 11 पैसे के नुकसान से 70.60 रुपये प्रति डॉलर पर चल रहा था।
अमेरिका, चीन के बीच व्यापार वार्ता को लेकर अनिश्चितता से वैश्विक निवेशकों की धारणा भी कमजोर हुई। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप तथा चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग के बीच जी-20 शिखर बैठक के दौरान इस विवाद को हल करने पर सहमति बनी थी। ट्रंप ने कहा है कि व्यापार वार्ता के आगे विस्तार की संभावना है। ट्रंप ने शनिवार को ट्वीट किया, ‘‘चीन के साथ वार्ता शुरू हो चुकी है। यदि इसे और आगे नहीं बढ़ाया जाता है तो यह 90 दिन में समाप्त हो जाएगी।’’
 इस बीच, शेयर बाजारों के अस्थायी आंकड़ों के अनुसार विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने मंगलवार को 55.89 करोड़ रुपये के शेयर बेचे। वहीं घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 521.38 करोड़ रुपये की बिकवाली की।
SOURCEChiniMandi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here