उत्तर प्रदेश: चीनी मिलों को मिली एक हफ्ते की डेडलाइन

224

शाहजहांपुर: उत्तर प्रदेश में गन्ना भुगतान का मुद्दा गरमाया हुआ और प्रसाशन भी पूरी कोशिश में लगा हुआ है की चीनी मिलें जल्द से जल्द भुगतान करे।

लाइव हिंदुस्तान डॉट के में प्रकाशित खबर के मुताबिक, जिले में पिछले गन्ना पेराई सत्र का मकसूदापुर, तिलहर और पुवायां चीनी मिल पर कुल 119.31 करोड़ रूपये भुगतान बकाया है। गन्ना विभाग द्वारा बार बार सुचित करने के बावजूद मिलें लंबित बकाया भुगतान करने में विफल रहीं है। लंबित बकाया भुगतान के लिए डीएम इंद्र विक्रम सिंह ने चीनी मिलों को एक सप्‍ताह की मोहलत दी है। उन्होंने चेतावनी दी है कि, अगर एक सप्ताह के भीतर शत-प्रतिशत गन्ना मूल्य भुगतान नहीं किया गया तो चीनी मिलों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

डीएम ने कहा कि, 2020-21 पेराई सत्र में भी किसी भी चीनी मिल द्वारा गन्ना मूल्य भुगतान की शुरूआत नहीं की गई है। उन्होंने सभी चीनी मिलों को तुरंत भुगतान करने के निर्देश दिए हैं।

चीनी मिलों का दावा है धीमी चीनी बिक्री, कोरोना का प्रभाव और अन्य कारणों के कारण उन्हें आर्थिक समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। जिसके कारण वे गन्ना भुगतान में विफल रहे है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here