देश में चीनी की कमी शर्म की बात: कजाकिस्तान राष्ट्रपति

155

नूर-सुल्तान : कजाकिस्तान इस समय चीनी की भारी कमी का सामना कर रहा है, आपूर्ति प्रभावित होने से आम लोग काफी परेशान है। चीनी की कमी को देखते हुए राष्ट्रपति कसीम-जोमार्ट टोकायव ने सरकार को कड़ी फटकार लगाई और घरेलू चीनी उद्योग के विकास के लिए रोडमैप बनाने का निर्देश दिया।

कजाकिस्तान सरकार के विस्तारित सत्र के दौरान, राष्ट्रपति टोकायव ने व्यापार मंत्री बख्त सुल्तानोव और कृषि मंत्री येरबोल करशुकेयेव को फटकार लगाई।तोकायेव ने कैबिनेट को घरेलू चीनी उद्योग के विकास पर एक अलग परियोजना तैयार करने का निर्देश दिया ताकि आयात निर्भरता को काफी कम किया जा सके और धीरे-धीरे चीनी आत्मनिर्भरता की ओर कदम बढ़ाया जा सके। कजाख राष्ट्रपति टोकायव ने जोर देकर कहा कि, चीनी उद्योग में विदेशी निवेशकों की रुचि काफी अधिक है और सही दृष्टिकोण की जरूरत है। कसीम-जोमार्ट टोकायव ने यह भी कहा कि, किराने की दुकानों पर चीनी की कमी की स्थिति देश ‘शर्म की बात’ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here