देश में अब तक हुआ 258.68 लाख टन चीनी उत्पादन

196

नई दिल्ली : इंडियन शुगर मिल्स एसोसिएशन (ISMA) की नवीनतम रिपोर्टों के अनुसार, 2020-21 सीजन के दौरान, 502 चीनी मिलों शुरू थी, जबकि पिछले सीजन में 457 मिलें शुरू थी। 15 मार्च 2021 तक 258.68 लाख टन चीनी का उत्पादन किया गया है, जबकि पिछले साल 15 मार्च 2020 तक 216.13 लाख टन का उत्पादन हुआ था। 15 मार्च 2021 तक 171 मिलों ने पेराई बंद कर दी है और 331 चीनी मिलें पेराई कर रही है। पिछले साल 15 मार्च 2020 तक 138 मिलों ने परिचालन बंद कर दिया था और 319 मिलें तब परिचालन कर रही थीं।

महाराष्ट्र में, 15 मार्च, 2021 तक चीनी का उत्पादन 94.05 लाख टन हुआ, जबकि पिछले साल इसी अवधि में 55.85 लाख टन उत्पादन हुआ था। वर्तमान 2020-21 सीजन में, 48 मिलों ने राज्य में अपने पेराई कार्यों को बंद कर दिया है, जिनमें से अधिकांश सोलापुर क्षेत्र की हैं, और शेष 140 चीनी मिलें चल रही हैं। पिछले सीजन में इसी तारीख को, 56 मिलों ने अपने परिचालन को बंद कर दिया था, जबकि 90 मिलें चालू थीं। महाराष्ट्र में चालू सीजन में, मराठवाड़ा और अहमदनगर क्षेत्रों में मिलें आगामी पखवाड़े में बंद होने लगेंगी, जबकि कोल्हापुर, सतारा और सांगली क्षेत्रों में अधिकांश मिलें अप्रैल तक शुरू रहेंगी।

यूपी में, 120 चीनी मिलों ने 15 मार्च 2021 तक 84.25 लाख टन चीनी का उत्पादन किया है। 120 चीनी मिलों में से 18 चीनी मिलों ने पेराई कार्य बंद कर दिया है, जिनमें से अधिकांश पूर्वी यूपी में स्थित हैं। इसकी तुलना में, पिछले साल राज्य में 118 चीनी मिलें चालू थीं और उन्होंने 15 मार्च 2020 तक 87.16 लाख टन का उत्पादन किया था।

कर्नाटक के मामले में, 15 मार्च, 2021 तक, 66 चीनी मिलों ने 41.35 लाख टन चीनी का उत्पादन किया है। 66 चीनी मिलों में से 62 मिलों ने पहले ही राज्य में अपना परिचालन बंद कर दिया है और केवल 4 मिलें ही चल रही हैं। पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान, 63 चीनी मिलों ने 33.35 लाख टन चीनी का उत्पादन किया था। 63 चीनी मिलों में से 50 ने अपना परिचालन समाप्त कर दिया था और 13 मिलें पिछले साल 15 मार्च 2020 तक चालू थीं। कर्नाटक में वर्तमान स्थिति और जुलाई – सितंबर में आगामी विशेष सीजन को देखते हुए, राज्य में कुल 42.5 लाख टन चीनी का उत्पादन होने की उम्मीद है।

गुजरात ने 15 मार्च 2021 तक 8.49 लाख टन चीनी का उत्पादन किया है। इस साल संचालित 15 चीनी मिलों में से 2 चीनी मिलों ने अपने परिचालन को समाप्त कर दिया है। पिछले साल इसी तरह की चीनी मिलों का संचालन हुआ था, लेकिन 3 मिलों ने 15 मार्च, 2020 तक अपने परिचालन को बंद कर दिया था और 7.78 लाख टन चीनी का उत्पादन किया था।

तमिलनाडु में 26 चीनी मिलों ने 2020 – 2021 सीजन में अब तक 4.01 लाख टन चीनी का उत्पादन किया, जबकि 2019 -2020 सीजन में 23 मिलों द्वारा 4.12 लाख टन चीनी का उत्पादन किया है। शेष राज्यों आंध्र प्रदेश और तेलंगाना, बिहार, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़, राजस्थान और ओडिशा ने सामूहिक रूप से 15 मार्च, 2021 तक 26.53 लाख टन चीनी का उत्पादन किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here