सोलापुर जिले में छह नई इथेनॉल परियोजनाओं को मंजूरी

829

पुणे : चीनी मंडी

जिले में कुल 25 प्लान्ट : नई परियोजनाओं से प्रति दिन 3.35 लाख लीटर की क्षमता

सोलापुर जिले को केंद्र सरकार द्वारा 6 नई इथेनॉल परियोजनाओं को मंजूरी मिलने के बाद जिले की कुल परियोजनाओं की संख्या 25 हो गई है। पहले की 19 परियोजना से प्रति दिन 9 लाख 10 हजार लीटर इथेनॉल उत्पादित होता था, अब नई परियोजना से 3 लाख 35 हजार प्रति दिन का मिलकर कुल सोलापूर जिले में 12 लाख 35 हजार लीटर इथेनॉल उत्पादन की क्षमता स्थापित हुई है । चीनी उद्योग द्वारा प्रचारित इथेनॉल परियोजनाओं के लिए वित्त पोषण भी सरकार द्वारा किया जाता है।

सोलापुर जिले में, चीनी कारखानों के 16 और तीन स्वतंत्र मिलकर 19 इथेनॉल परियोजनाएं हैं। वी.एन. शिंदे चीनी मिल, विट्ठल कारपोरेशन म्हैसगाव , सहकार महर्षि शंकरराव मोहिते-पाटिल चीनी मिल , शंकर सहकारी, लोक नेता बाबुराव आन्ना पाटिल, लोकमंगल एग्रो बिबिदारफल, जकराया शुगर, सिद्धेश्वर सहकारी, यूटोपियन शुगर, पांडुरंग सहकारी, फैबटेक शुगर, चंद्रभागा चीनी मिल, विट्ठल सहकरी (गुरसाले), सासवड माली शुगर, मकाई सहकारी, इंद्रेश्वर शुगर मिल सहित ग्लोबस टेम्भुर्नी, सिद्धनाथ टेम्भुर्नी और खंडोबा टेम्भुर्नी इन स्वतंत्र आसवनी तीन को मिलाकर जिले में 19 परियोजनायों की कुल इथेनॉल उत्पादन क्षमता 9 लाख 10 हजार लीटर है।

यूटोपियन शुगर, बबनरावजीशिंदे चीनी, गोकुल चीनी, संत कुर्मदास चीनी, विट्ठल रिफ़ाइन्ड चीनी और मां लक्ष्मी चीनी इन मिलों के आसवनी परियोजना को मंजूरी दे दी गई है, और वी. एन. शिंदे सहकारी और विट्ठल कारपोरेशन म्हैसगाव को आसवन क्षमता के विस्तार के लिए मंजूरी मिल चुकी है। इस नई और विस्तारित परियोजना के लिए 469 करोड़ 59 लाख रूपये का कर्ज भी मंजूर किया गया हैं।

SOURCEChiniMandi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here