सोमेश्वर चीनी मिल ने बनाया कीर्तिमान; किसानों की झोली भरी पैसों से

468

पुणे : चीनी मंडी

देश और महाराष्ट्र में कई चीनी मिलें किसानों का गन्ना बकाया भुगतान करने में बार बार विफ़ल हो रही है और उन्हें सरकार द्वारा कार्रवाई का सामना करना पड़ रहा है। लेकिन दूसरी तरफ पुणे जिले की सोमेश्वर चीनी मिल ने गन्ना किसानों की झोली पैसों से भर दी है। मिल ने 2018 – 2019 सीझन के लिए राज्य में सबसे ज्यादा प्रति टन ३३०० रूपये की घोषणा की है। सोमेश्वर के इस फैसले से किसान काफ़ी खुश नजर आ रहे है। सोमेश्वर ने दिया हुआ दर महाराष्ट्र का अभी तक का सबसे ज्यादा दर होने का दावा मिल के अध्यक्ष पुरुषोत्तम जगताप ने किया है।

सोमेश्वर चीनी मिल ने तय एफआरपी से सवा पांच सों रूपये ज्यादा किसानों को दिए है, जो मिल और पुणे जिले की इतिहास में रिकॉर्ड दर साबित हुआ है।2018 – 2019 सीझन में सोमेश्वर मिल द्वारा 10,04,000 टन गन्ने की औसत 12.5 रिकवरी से पेराई की थी। जिससे 12 लाख 24 हजार क्विंटल चीनी का उत्पादन हुआ था। अन्य उत्पादों से भी मिल को अच्छा खासा राजस्व प्राप्त हुआ था। जिसके कारण मिल ने महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा दर दिया है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here