दक्षिण आफ्रिका चीनी उद्योग को R84 मिलियन से अधिक का नुकसान

257

प्रिटोरिया: दक्षिण अफ्रीकी गन्ना उत्पादक एसोसिएशन ने मंगलवार को कहा कि, पिछले महीने क्वाज़ुलु-नटाल में दंगों के दौरान आगजनी के हमलों में लगभग 5,00,000 टन गन्ना क्षतिग्रस्त होने के बाद दक्षिण अफ्रीकी चीनी उद्योग को R84 मिलियन से अधिक का नुकसान हुआ है। दंगो के दौरान 5,00,000 टन से अधिक गन्ना जला दिया गया था। क्वाज़ुलु-नटाल में मिलों ने क्षतिग्रस्त गन्ना नहीं लिया है। एसोसिएशन ने अनुमान लगाया कि, अगर मिलें आगजनी के हमलों में जले हुए 5,00,000 टन गन्ने की पेराई में विफल रहीं तो गन्ना उत्पादकों को R300 मिलियन तक का नुकसान हो सकता है।

साउथ अफ्रीकन केन ग्रोवर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष एंड्रयू रसेल ने कहा, दक्षिण अफ्रीका के प्रमुख चीनी उत्पादक प्रांतों में से एक क्वाज़ूलू-नताल और गौतेंग के कुछ हिस्सों में दंगे और लूटपाट हुई, जिससे व्यवसायों, बुनियादी ढांचे और संपत्ति को बड़ा नुकसान हुआ। कई लोग अग्नि बीमा सहकारी, ग्रोकेन और दक्षिण अफ्रीकी विशेष जोखिम बीमा संघ (एसएएसआरआईए) से राहत की प्रतीक्षा कर रहे हैं। एसोसिएशन अब दंगों से गंभीर रूप से प्रभावित गन्ना उत्पादकों के लिए कई सरकारी संस्थाओं से वित्तीय सहायता का अनुरोध कर रहा है। इसने व्यापार, उद्योग और प्रतिस्पर्धा विभाग, राष्ट्रीय कृषि विपणन परिषद, औद्योगिक विकास निगम की कृषि अनुदान इकाई और कृषि, भूमि सुधार और ग्रामीण विकास पर संसदीय पोर्टफोलियो समिति से संपर्क किया है।

व्हाट्सप्प पर चीनीमंडी के अपडेट्स प्राप्त करने के लिए, कृपया नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें.
WhatsApp Group Link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here