समाजवादी पार्टी ने दी चेतावनी यदि शीघ्र नहीं हुआ गन्ना भुगतान तो लड़ी जायेगी आरपार की लड़ाई

216

बलरामपुर: जिले के किसानों के गन्ने का बकाया चीनी मिलों द्वारा नहीं चुकाने का मामला राजनीतिक रंग लेने लगा है। गन्ना किसानों के बचाव के लिए राजनीतिक पार्टिंयां मैदान में आ चुकी है। समाजवादी पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने गत दिनों चीनी मिल के ऑफिस के सामने गेट पर भारी हंगामा किया और मिल प्रबंधकों के खिलाफ नारेबाजी की। किसानों के लिए सरकार की नीतियों को आडे लेते हुए सपा के लोगों ने कहा कि यदि किसानों की समस्याओं का शीघ्र समाधान नहीं हुआ तो वे अपना आंदोलन और तेज करेंगे।

सपा के लोगों ने गन्ना विकास समिति के सचिव को किसानों की मांगों को लेकर एक ज्ञापन सौंपा। सपा नेताओं ने कहा कि उत्तर प्रदेश की सरकार किसानों के लिए काम नहीं कर रही। यहां किसानों की जरा भी नहीं सुनवाई नहीं हो रही। राज्य की चीनी मिलों में इनके करोड़ों रुपए फंसे हैं। सरकार उनके भुगतान करवाने से कतरा रही है।

उन्होंने कहा कि बजाज चीनी मिल इटई मैदा में भी किसानो का करोड़ों रुपये हैं। उन्हें मिलें समय से नहीं चुका रही हैं। ऐसे में किसानों को अपना घर चलाने के लिए दर-दर भटकना पड़ रहा है। पैसे के अभाव में वे नई फसल भी नहीं लगा रहे हैं। कई किसान तो गन्ने की खेती से मुंह भी मोड़ने लगे हैं। सपा नेताओं ने चेतावनी दी कि यदि शीघ्र ही किसानो की समस्याओं का निराकरण न हुआ तो आरपार की लड़ाई लड़ी जायेगी।

प्रदर्शन के बाद सपा नेताओं ने अपनी मांगो से संबंधित ज्ञापन गन्ना विकास समिति बलरामपुर के सचिव को सौंपा।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here