श्रीलंका: थोक चीनी की किमतों मे हुई वृद्धि

276

कोलंबो: श्रीलंका में चीनी के थोक मूल्य में वृद्धि देखी गई है और थोक व्यापारियों ने केवल 10 दिनों में एक किलो की कीमत में 25 रुपये की वृद्धि की है। चीनी की बढती किंमतो से श्रीलंका का आम नागरिक परेशान है, और उन्होंने सरकार से चीनी की किंमते कम करने की मांग कि है।

श्रीलंकाई सरकार देश में चीनी के कीमतों को स्थिर करने के उद्देश्य से भारत से चीनी आयात करने की योजना बना रही है। फिलहाल चीनी का आयात अब लाइसेंस के अधीन है और इसके लिए आयात और निर्यात नियंत्रक से पूर्वानुमोदन की आवश्यकता है।

मंत्रियों के मंत्रिमंडल ने इस सप्ताह स्थानीय बाजार में चीनी की बढ़ती कीमतों पर चर्चा की और कीमतों को स्थिर करने और जनता पर बोझ कम करने के लिए चीनी आयात करने का फैसला किया।

चीनी पर टैक्स कम करने के साथ-साथ, सरकार ने चीनी को एक आवश्यक वस्तु के रूप में भी घोषित किया और चीनी के लिए अधिकतम खुदरा मूल्य 85 रुपये प्रति एक किलो तय किया था। बाद में, सरकार ने 22 मई से चीनी आयात करने के लिए लाइसेंस जारी करना बंद कर दिया।

आपको बता दे, देश के मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सोमवार को अपनी बैठक में, व्यापार मंत्री बंडुला गुणवर्धने की सिफारिशों पर, मंत्रिमंडल ने राज्य एजेंसियों – साथोसा और सहकारी समिति के आउटलेट के माध्यम से कम लागत और खुदरा पर प्रति माह 2,500 टन चीनी आयात करने पर सहमति व्यक्त की। चीनी भारत से आयात करने की योजना है।

व्हाट्सप्प पर चीनीमंडी के अपडेट्स प्राप्त करने के लिए, कृपया नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें.
WhatsApp Group Link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here