चीनी आयुक्त का तीन मिलों को ‘अल्टीमेटम’

345

एक सप्ताह में गन्ना मूल्य भुगतान करो, नही तो गन्‍ना दुसरी मिलों को भेजेंगे

लखनऊ : चीनी मंडी

उत्तर प्रदेश कई मिलों ने अभी तक किसानों को गन्‍ना भुगतान नही किया है। बकाया भुगतान से किसान काफी परेशान है, और उन्होंने ऐसी स्थिती के लिए राज्य सरकार को जिम्मेवार ठहराया है। जिससे राज्य सरकार की किरकिरी हो रही है, इससे निजाद पाने के लिए गन्ना मूल्य भुगतान को लेकर चीनी आयुक्त ने तीन चीनी मिलों को ‘अल्टीमेटम’ दिया हैै। देवीपाटन मण्डल के आयुक्त महेन्द्र कुमार ने मण्डल के अन्तर्गत ऐसी तीन चीनी मिलें है, उन चीनी मिलों पर 545 करोड़ गन्ना भुगतान बकाया है। इन मिलों ने किसानों के बकाया गन्ना मूल्य का सबसे कम भुगतान किया गया है, कुमार ने निर्देश दिया है कि, इन चीनी मिलों के क्षेत्र से गन्ना डायवर्ट कराने का प्रस्ताव शासन को भेजा जाए।

चिलवरिया चीनी मिल द्वारा किसानों का बकाया मूल्य मात्र 18 प्रतिशत ही भुगतान किया गया है। इटईमैदा व कुन्दरखी चीनी मिलों द्वारा क्रमशः मात्र 54 एवं 49 प्रतिशत ही गन्ना मूल्य का भुगतान किया गया है। उपगन्ना आयुक्त ने बताया कि इस समय मण्डल की चीनी द्वारा किसानों का 545 करोड़ रूपए गन्ना मूल्य भुगतान किया जाना शेष जिसमें से अकेले चार सौ करोड़ रूपए तीन चीनी मिलों चिलवरिया, इटईमैदा व बजाज कुन्दरखी का ही बकाया है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here