चीनी उद्योग को अधिशेष स्टॉक क्लियर करने के लिए नई निर्यात निती की उम्मीद

392

नई दिल्‍ली : चीनी मंडी

कोरोना वायरस के चपेट में चीनी उद्योग भी आया है, लॉकडाऊन के कारण घरेलू बाजार में चीनी बिक्री धीमी हो चुकी है। अब चीनी उद्योग को उम्मीद है कि, सरकार 2020-2021 के लिए एक नई निर्यात नीति की घोषणा कर सकती है।

कोरोना वायरस के कारण निर्माण हुई परिस्थितियों की समीक्षा और अगले चीनी मौसम के लिए नीतिगत उपायों पर चर्चा करने के लिए सोमवार को केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान द्वारा एक बैठक का आयोजन किया गया था। भारत में 2019-20 सीजन में 270 लाख मीट्रिक टन चीनी का उत्पादन होने की उम्मीद है, जबकि 2020-21 में उत्पादन लगभग 310 लाख मीट्रिक टन होने का अनुमान लगाया जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, चीनी उद्योग के जानकरों का कहना है कि, 1 अक्टूबर से शुरू होने वाले अगले चीनी सीजन में 40 लाख टन चीनी के बफर स्टॉक की योजना के विस्तार की संभावना है।

इकनोमिक टाइम्स में प्रकाशित खबर के मुताबिक, बैठक में अगले सीजन में 60 लाख टन चीनी के निर्यात के लिए प्रोत्साहन देने की नीति पर भी चर्चा हुई।

हालही में Care Ratings ने एक रिपोर्ट जारी की थी जहा उन्होंने कहा था की आने वाले समय में समारोहों और त्योहारों पर प्रतिबंध के चलते घरेलु चीनी खपत में कमी आएगी।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here