देश भर में चीनी मांग स्थिर; चीनी मूल्य MSP के स्तर तक फिसलने की संभावना

1471

खाद्य मंत्रालय ने अक्टूबर महीने के लिए 23 लाख टन चीनी कोटे की घोषणा की है। सरकार के मुताबिक देशव्यापी लॉकडाउन में ढील और अक्टूबर महीने में प्रमुख त्यौहार के मद्देनजर आवंटित चीनी कोटा के लिए अच्छी मांग रहेगी वही दूसरी ओर चीनी मिलें घरेलु चीनी मांग में कमी के कारण पूरा चीनी कोटा बेचने को लेकर असमंजस में है। कल से चीनी की कीमतों में गिरावट आई है और व्यापारियों को चीनी मूल्य MSP के स्तर तक फिसलने की आशंका है।

चीनीमंडी न्यूज़ के साथ बातचीत में, गुजरात के चीनी व्यापारी श्री जनीश पटेल ने कोटा की घोषणा के बाद की स्थिति पर अपने विचार साझा किए। उन्होंने कहा, “कोरोना के बाद की स्थिति के मद्देनजर देखा जाए तो कोटा काफी अधिक है क्यूंकि अब तक रेस्तरां, मॉल, होटल आदि पूरी तरह से नहीं संचालन में नहीं है। लोग अभी भी यात्रा करने के लिए अनिच्छुक हैं। हालांकि त्योहारों को ध्यान में रखते हुए मांग रहेगी लेकिन हम वास्तव में निश्चित नहीं हैं कि यह मांग कितनी अच्छी होगी। MSP में बढ़ोतरी की घोषणा के इंतजार में भी मांग में ठहराव है।”

उन्होंने आगे कहा, “वर्तमान में, गुजरात में, M30 की दरें 3250 रुपये से 3270 प्रति कुंतल के बीच हैं। और स्थिर मांग को देखते हुए दर लगभग 3200 रूपये प्रति कुंतल तक पहुंचे तो इसमें कुछ आश्चर्यजनक नहीं होगा। महाराष्ट्र में S/30 की कीमतें उच्च स्तर पर 3170 रूपये प्रति कुंतल हैं और इसी तरह वे 3100 रुपये से 3120 रुपये कुंतल तक गिर सकते हैं।”

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here