चीनी मिलों ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से तत्काल बैठक बुलाने का किया आग्रह

721

कोल्हापुर: चीनी मंडी

शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस सरकार पर अपनी उम्मीद जताते हुए, महाराष्ट्र स्टेट कोऑपरेटिव शुगर फैक्ट्रीज़ फेडरेशन (MSCSFF) ने, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से चीनी उद्योग की विभिन्न समस्याओं पर विचार-विमर्श करने के लिए एक तत्काल बैठक बुलाने का आग्रह किया है।

MSCSFF के अध्यक्ष जयप्रकाश दांडेगावकर के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने मंगलवार को मुंबई में ठाकरे से मुलाकात की और एक ज्ञापन प्रस्तुत किया। दांडेगावकर ने को बताया कि, उन्होंने ठाकरे से सभी चीनी उद्योग हितधारकों की बैठक बुलाने का अनुरोध किया है, क्योंकि आदर्श आचार संहिता और सरकार के गठन में देरी के कारण नियमित बैठक पहले नहीं हुई है। इस साल के गन्ना पेराई सत्र में देरी हुई और मिलों को बड़ी और छोटी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।

MSCSFF ने सात मांगें की हैं और उनमें से अधिकांश वित्त और ऋण से संबंधित हैं। वित्तीय मांगें महत्व रखती हैं क्योंकि चीनी मिलें दावा करती है की उच्च उत्पादन मूल्य और चीनी के कम न्यूनतम बिक्री मूल्य (एमएसपी) के कारण वे संकट में हैं। कांग्रेस और राकांपा के कई वरिष्ठ राजनेता ग्रामीण क्षेत्रों से निकले हैं और उनका चीनी क्षेत्र और किसानों के मुद्दों के प्रति स्वाभाविक लगाव है। चीनी मिलें कृषि ऋण माफी पर एक बड़े फैसले की उम्मीद कर रहे हैं जो अप्रत्यक्ष रूप से इस क्षेत्र को बढ़ावा दे सकता है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here