चीनी आयात अब किसीका एकाधिकार नहीं : मलेशिया के नई सरकार का दावा

कुचिंग (मलेशिया) : पकाटन हरपन सरकार ने आखिरकार देश में चीनी आयात के एकाधिकार को तोड़ दिया है। घरेलू व्यापार और उपभोक्ता मामलों के उप मंत्री चोंग चिनेंग जेन ने कहा कि, खाद्य और पेय निर्माता अब चीनी आयात परमिट के लिए आवेदन कर सकते हैं।

उन्होंने कहा कि, सरवाक में इस तरह के एक व्यापारी ने सफलतापूर्वक चीनी आयात करने की अनुमति प्राप्त कर ली थी, यह कदम कई क्षेत्रों में एकाधिकार को तोड़ने की नई संघीय सरकार के प्रयासों का हिस्सा था। नई संघीय सरकार को लगता है कि, देश की अर्थव्यवस्था के लिए एकाधिकार बुरा है। उन्होंने कहा, मंत्रालय इस व्यवसाय को गंभीरता से देख रहा है, जिसका समूह या व्यक्तियों द्वारा एकाधिकार से चलाया जा रहा है ।

पिछली नीति के तहत, प्रायद्वीप में केवल दो कंपनियों को कच्ची चीनी आयात करने और देश में इसे परिष्कृत करने की अनुमति दी गई थी। चोंग ने कहा कि पहले, निर्माताओं को प्रायद्वीप में कंपनियों से ठच2.80 प्रति किलो पर परिष्कृत चीनी खरीदनी पड़ती थी, लेकिन आयात परमिट के साथ, वे आरएम 2 प्रति किलो से कम में विदेशों से चीनी खरीद सकते थे। उन्होंने कहा, यह पकाटन हरपन सरकार के प्रयासों का एक हिस्सा है, क्योंकि पिछली सरकार एकाधिकार नीति से चलती थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here