Q4FY21 में चीनी उद्योग की ग्रोथ बेहतर होने की संभावना: इंडिया रेटिंग्स एंड रिसर्च

112

नई दिल्ली : इंडिया रेटिंग्स एंड रिसर्च (Ind-Ra) ने कहा कि, Q4FY21 में चीनी उद्योग की ग्रोथ में सुधार होने की उम्मीद है। दिसंबर 2020 में घोषित सब्सिडी और निर्यात में मजबूत गति के चलते सुधार आने की उम्मीद है। Ind-Ra को Q4FY21 में स्वस्थ राजस्व वृद्धि की उम्मीद है, सब्सिडी की घोषणा में देरी के कारण Q3FY21 में प्रमुख क्षेत्र की इकाइयों के लिए कुल राजस्व वृद्धि 4 प्रतिशत तक धीमा हो गई थी।

एजेंसी के अनुसार, इथेनॉल की कीमतों में वृद्धि Q4FY21 में डिस्टिलरी सेगमेंट की लाभप्रदता में सहायता करेगी। तेल विपणन कंपनियों द्वारा दूर के डिपो को आवंटन के कारण परिवहन लागत में वृद्धि के बावजूद राजस्व में सुधार होगा। इसके अलावा, Ind-Ra को उम्मीद है कि,भारत का चीनी उत्पादन 2020-21 (SS21) में 10% YoY को बढ़ाकर लगभग 30 मिलियन टन (mnt) होगा, जिसमे महाराष्ट्र का 10.5 मिलियन टन का योगदान होगा। हालांकि, अप्रैल या मई में ब्राजील की चीनी के आगमन के साथ कच्ची चीनी की गति प्रभावित हो सकती है। इसके अलावा, एजेंसी ने कहा कि,सफेद चीनी का निर्यात भी कंटेनरों की कमी और समुद्र के भाड़े में वृद्धि से प्रभावित हो सकती है। नतीजतन, Ind-Ra का मानना है कि SS21 में चीनी का निर्यात 5.4 मिलियन टन के आसपास हो सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here