चीनी उद्योग को ब्राजील के ‘दोहरे मॉडल’ को अपनाना चाहिए : मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

184

पुणे / मुंबई : मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राज्य के चीनी उद्योग से ब्राजील जैसे ‘दोहरे मॉडल’ को अपनाने का आग्रह किया, जो मिलों को चीनी और इथेनॉल के उत्पादन को लेकर जरूरत के हिसाब से बदलाव करने की अनुमति देगा।वसंतदादा शुगर इंस्टीट्यूट (वीएसआई) की 44 वीं वार्षिक आम सभा की बैठक में ठाकरे बोल रहे थे।मुख्यमंत्री ठाकरे ने भंडारा जिले में चल रही गोसी खुर्द परियोजना की अपनी हालिया यात्रा की जानकारी देते हुए कहा कि, वहां के किसानों ने इस परियोजना को जल्द पूरा करने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा, स्थानीय लोगों नेकहा की, परियोजना पूरी होने के बाद वह क्षेत्र पंजाब जितना समृद्ध हो जाएगा।

बैठक को ऑनलाइन संबोधित करते हुए, मुख्यमंत्री ठाकरे ने चीनी उद्योग से एक हाइब्रिड मॉडल अपनाने का आग्रह किया जो चीनी मिलों को चीनी और इथेनॉल के उत्पादन के बीच जरूरतों के हिसाब से बदलाव करने की अनुमति देगा। अतिरिक्त चीनी उत्पादन उद्योग को आर्थिक पटरी से उतार सकता है।ब्राजील में चीनी मिलों के पास चीनी या इथेनॉल के उत्पादन पर निर्णय लेने की तकनीक है और आपूर्ति की मांग के परिदृश्य को ध्यान में रखते हुए सीजन की शुरुआत में कॉल किया जाता है।पिछले वर्ष की वार्षिक आम बैठक के दौरान, संस्थान ने मुख्यमंत्री से मराठवाड़ा के लिए एक गन्ना अनुसंधान केंद्र के विकास के लिए जालना जिले में भूमि आवंटित करने का अनुरोध किया था।ठाकरे ने कहा कि, वह चाहते है कि, ‘वीएसआई’ राज्य भर में केंद्र स्थापित करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here