टरबाइन खराब होने से एक बार फिर बंद हुई चीनी मिल

647

सोनीपत: सहकारी चीनी मिल के एमडी अश्विनी कुमार ने मिल की टरबाइन के खराब होने पर नाराज गन्ना किसानों को समझाया और आश्वस्त किया है कि तकनीकी खराबी के कारण पेराई रोकनी पड़ी है। उन्होंने कहा कि टरबाइन को ठीक कराने के लिए सहारनपुर से इंजीनियर बुलाए गए हैं। यह समस्याएं जल्द ही दूर कर दी जाएगी।

गौरतलब है कि सहकारी चीनी मिल में पिछले कई दिनों से टरबाइन में बार बार खराबी आ रही है। इससे गन्ने की पेराई में दिक्कत आ रही है। मिल के परिसर में गन्ने से लदी गाड़ियां खड़ी है। इससे किसानों की परेशान काफी बढ़ी है। प्रशासन भी मिल को चलाने में असमर्थता जता रहा है।

टरबाइन के रुकने से पेराई प्रभावित हुई है। गन्ने के किसानों ने परेशान होकर मिल प्रशासन के खिलाफ हंगामा किया और नारेबाजी की। किसानों का आरोप है मिल में गन्ना पेराई कम है। सरकार ने एक साल पहले मिल की क्षमता 22 हजार टीसीडी बढ़ाई थी। फिर भी मिल के सही से नहीं चलने के कारण गन्ना किसानों को अपना माल आहुलाना और महम की मिलों में भेजना पड़ा था। इस साल भी वहीं स्थिति है।

गत शुक्रवार के दोपहर तक मिल में पेराई के लिए 27 हजार क्विंटल गन्ना पहुंच चुका है और यहां अब तक 1 लाख 40 हजार क्विंटल से अधिक गन्ने की पेराई हो चुकी है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here