चीनी मिल को मिली 25 अगस्त की डेडलाइन

408

मांड्या: कर्नाटक में गन्ना बकाया भुगतान धीमी गति से हो रहा है, जिसके कारण किसान आक्रोश में है। अब सरकार भी गंभीर दिख रही है और इसलिए प्रसाशन ने चीनी मिलों को जल्द से जल्द बकाया भुगतान चुकाने के आदेश दिए है।

उपायुक्त एम.वी. वेंकटेश ने मद्दुर तालुक में में स्थित श्री चामुंडेश्वरी चीनी मिल को 25 अगस्त के पहले गन्ना उत्पादकों का बकाया भुगतान चुकाने का निर्देश दिया है। अगर मिल भुगतान करने में विफल रहती है तो उसे कार्रवाई का सामना करना पड़ सकता है।

रिपोर्टों के अनुसार, चीनी मिल पर गन्ना किसानों का 13.07 करोड़ रुपये बकाया है, जिन्होंने वर्तमान पेराई सत्र के लिए गन्ना की आपूर्ति की थी। हाल ही में, उपायुक्त ने मिल के अधिकारियों के साथ एक बैठक की, जहाँ उन्हें बकाया राशि देने का निर्देश दिया गया।

कानून कहता है कि, चीनी मिलें गन्ने की खरीद के 14 दिनों के भीतर कीमत का भुगतान करने के लिए उत्तरदायी हैं, और यदि इसका उल्लंघन किया जाता है, तो उसे 15 प्रतिशत ब्याज दर पर बकाया का भुगतान करना चाहिए।

कर्नाटक में गन्ना किसानों ने गन्ना बकाया को लेकर मिलों और सरकार के खिलाफ अपना विरोध तेज कर दिया है। इससे पहले, किसानों के प्रतिनिधिमंडल ने कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री कुमारस्वामी से मुलाकात की थी ताकि उन्हें किसानों के दिक्कतों से अवगत कराया जा सके। जिसके बाद, उन्होंने चीनी मिलों द्वारा बकाया राशि जल्द से जल्द चुकाया जाएगा यह आश्वासन दिया था।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here