चीनी मिल कर्मचारियों की हड़ताल, गन्ना पेराई प्रभावित

212

बदायूं (उत्तर प्रदेश): चीनी मिल में कर्मचारियों की अहम भूमिका होती है, और अगर वे काम बंद कर दे, तो चीनी मिल को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। दि किसान सहकारी चीनी मिल्स शेखूपुर के दैनिक वेतनभोगी कर्मचारियों ने मानदेय बढ़ाने की मांग पर अचानक हड़ताल शुरू कर दी, जिससे मिल में गन्ना पेराई बुरी तरह प्रभावित हुई है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, मंगलवार रात दो बजे मिल के 250 से ज्यादा कर्मचारियों ने अचानक मिल बंद कर आंदोलन शुरू कर दिया तथा बुधवार को कलेक्ट्रेट पहुंचकर डीएम को ज्ञापन सौंपा। कर्मचारियों ने आरोप लगाया कि मिल प्रबंधन बाहरी लोगों को बुलाकर ज्यादा मानदेय के साथ संविदा पर नौकरी दे रहा है, जबकि पहले से काम कर रहे दैनिक वेतनभोगी कर्मचारियों का मानदेय नहीं बढ़ाया जा रहा। इस पर डीएम ने मिल-कर्मियों को समस्या का समाधान कराने का आश्वासन दिया। कर्मचारियों की हड़ताल से मिल में गन्ना पेराई बुरी तरह प्रभावित हुई है तथा वैकल्पिक व्यवस्था कर पेराई करायी जा रही है। मिल प्रबंधन और कर्मचारियों के बीच देर रात तक वार्ता चलती रही, लेकिन कर्मचारी वेतन बढ़ोतरी की मांग पूरी होने तक हड़ताल खत्म करने को राजी नहीं हुए।

मिल के जीएम आर.के रस्तोगी ने कर्मचारियों की हड़ताल की पुष्टि करते हुए बताया कि वैकल्पिक व्यवस्था कर किसी तरह पेराई शुरू कराई गई है। वेतन बढ़ोतरी का प्रस्ताव डीएम को भेजा जाएगा, जिस पर निर्णय लेने का अधिकार डीएम को ही है। फिलहाल हड़ताल खत्म कराने के लिए कर्मचारियों से बातचीत जारी है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here