सख्ती के बाद भी चीनी मिलों ने नहीं किया गन्ना भुगतान…

263

रामपुर: किसान संघठनों द्वारा आंदोलन और सरकार द्वारा कड़ी कार्रवाई के चेतावनी के बावजूद भी उत्तर प्रदेश में कई सारी चीनी मिलें बकाया भुगतान करने में विफ़ल रही है। इतना ही नही चीनी मिलों से किसानों का बकाया भुगतान कराने में कोर्ट की सख्ती भी कुछ खास असरदार नही साबित हुई है। प्रदेश के अन्य जिलों की तरह रामपुर जिले की दो मिलों ने अब तक किसानों का पूरा भुगतान नहीं किया है। इन मिलों पर अब भी किसानों का 33 करोड़ 57 लाख रुपये बकाया है। इस साल का सीझन शुरू होने में अब कुछ ही दिन बचे है, लेकिन फिर भी यह मिलें किसानों के भुगतान के बारे में गंभीर नही दिखाई दे रही है।

किसान संघठनों के आंदोलन के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चीनी मिलों को 31 अक्टूबर तक किसानों के सारा बकाया चुकाने का डेडलाइन दिया था, लेकिन इन मिलों पर इस आदेश का कोई असर नहीं हुआ। गन्ना अधिनियम के अनुसार 14 दिनों के अंदर गन्ना भुगतान नहीं करने पर मिलों को 15 फीसदी ब्याज भी देने का प्रावधान है, लेकिन किसानों का आरोप है की इन प्रावधानों की मिलों ने धज्जियां उड़ाई है। जिलाधिकारी ने भी कई बार मिल अधिकारियों की बैठकें लेकर उन्हें जल्द से जल्द भुगतान करने के निर्देश दिए थे। लेकिन अब भी राणा शुगर मिल पर 23 करोड़ रुपये का बकाया है। रुद्र विलास मिल पर 10 करोड़ 57 लाख रुपये बकाया हैं। मिलों की इस रवैये से किसानों में काफी आक्रोश है और इसके लिए सरकार के लचीले रवैये को दोषी मानते है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here