कर्नाटक में चीनी मिलों ने किया पेराई सत्र समाप्त

104

देश में पेराई सत्र अंतिम चरण में पहुँच चूका है। महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश और अन्य चीनी उत्पादक राज्यों में अधिकांश चीनी मिलों ने पेराई सत्र बंद कर दिया है।

कर्नाटक में सारे चीनी मिलों ने सीजन खत्म कर दिया है। इंडियन शुगर मिल्स एसोसिएशन (ISMA) की नवीनतम रिपोर्टों के अनुसार, कर्नाटक में 15 अप्रैल, 2021 तक, 66 चीनी मिलों ने 41.45 लाख टन चीनी का उत्पादन किया है। अब तक, सभी मिलों ने अपना परिचालन बंद कर दिया है। हालांकि, दक्षिण कर्नाटक की कुछ मिलें जुलाई-सितंबर, 2021 तक विशेष सीजन में काम करेंगी। पिछले साल इसी अवधि के दौरान, सभी 63 चीनी मिलों ने अपना परिचालन बंद कर दिया था और 33.82 लाख टन चीनी का उत्पादन किया था। हालांकि, पिछले साल के विशेष सीजन में 1.12 लाख टन चीनी उत्पन की गई थी।

महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश में भी कई चीनी मिलों ने पेराई बंद कर दिया है। महाराष्ट्र में वर्तमान 2020-21 सीजन में 136 मिलों ने अपने पेराई कार्यों को बंद कर दिया है और वर्तमान में 54 चीनी मिलें चल रही हैं। वही उत्तर प्रदेश में 120 चीनी मिलों में से 54 चीनी मिलों ने पेराई कार्य बंद कर दी है और जबकि 66 मिलों द्वारा पेराई अब भी शुरू है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here