मिलों को चीनी जब्ती से बचने के लिए पंद्रह दिन की मोहलत

851

 

सिर्फ पढ़ो मत अब सुनो भी! खबरों का सिलसिला अब हुआ आसान, अब पढ़ना और न्यूज़ सुनना साथ साथ. यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये

कोल्हापुर : चीनी मंडी

गन्ना बकाया भुगतान में देरी के चलते तहसीलदारों ने कोल्हापुर डिवीजन के 12 मिलों को नोटिस भेजे हैं। नोटिस में कहा गया है की, अगर चीनी मिलें सात से पंद्रह दिनों के भीतर एफआरपी जमा नहीं करते हैं, तो मिलों की चीनी जब्त की जाएगी।

चीनी आयुक्त शेखर गायकवाड के आदेश के बाद, प्रशासन ने एफआरपी की वसूली के लिए 12 मिलों की चल और अचल संपत्ति को जब्त करने का आदेश दिया है। इसके अनुसार, जिला प्रशासन ने तहसीलदारों को कार्रवाई करने का आदेश दिया। कार्रवाई के पहले चरण के रूप में,  जिले में दत्त शिरोल, गुरुदत्त शुगर्स, संताजी घोरपड़े, पंचगंगा, इको-केन, वारणा, जवाहर इन मिलों को नोटिस जारी किए है। नोटिस के बाद, मिलों ने 2300 रुपये प्रति टन के हिसाब से किस्त जमा की, लेकिन एफआरपी का संतुलन नहीं भरा जाएगा और मिलों की चीनी को जब्त कर लिया जाएगा। चूंकि 16 फरवरी तक सात से पंद्रह दिन तय किए गए हैं, इसलिए उस समय तक मिलों को किसानों के खाते में एफआरपी राशि जमा करनी होगी।

डाउनलोड करे चीनीमंडी न्यूज ऐप:  http://bit.ly/ChiniMandiApp 

SOURCEChiniMandi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here