चिनी मिलों को मिली 30 मई की ‘डेडलाइन’

914

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये

कोल्हापुर : चीनी मंडी

चीनी आयुक्त शेखर गायकवाड ने साफ़ कर दिया है की, राज्य के सभी मिलों को किसी भी हाल में 30 मई तक गन्ना किसानों का बकाया भुगतान करना होगा। जो मिलें भुगतान करने से चुकेंगी उन मिलों पर ‘आरआरसी’ के तहत कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

आन्दोलन अंकुश, जय शिवराय और बलिराजा किसान मोर्चा द्वारा पुणे में चीनी आयुक्त कार्यालय के गेट पर धरना आन्दोलन किया गया। किसान संघठनों द्वारा दिए गये निवेदन पर आयुक्त गायकवाड ने गन्ना बकाया भुगतान को लेकर अपना रुख स्पष्ट कर दिया है।

कोल्हापुर जिले में आरआरसी कार्रवाई के डर से जिले की 9 मिलों ने एफआरपी का भुगतान किया, लेकिन देरी में भुगतान के चलते 15 प्रतिशत ब्याज पर अभी तक मिलों ने कोई फैसला नही लिया है। इसके चलते आन्दोलन अंकुश द्वारा धरना प्रदर्शन किया गया था।

प्रदर्शनकारियों के सामने चीनी आयुक्त ने बताया की, 30 जनवरी तक जिन मिलों ने भुगतान नही किया था, उन 39 मिलों पर सख्त कार्रवाई की गई थी।कार्रवाई के बाद कई मिलों ने किसानों का बकाया भुगतान किया, लेकिन 15 प्रतिशत ब्याज किसी भी मिल ने नही दिया है। कुछ मिलों ने तो 31 जनवरी के बाद के पेराई का अभी तक भुगतान नही किया है, जिससे किसान काफी नाराज है। चीनी आयक्त ने प्रदर्शनकारियों के यह विश्वास दिलाया की, 1जून तक सभी मिलों को बकाया भुगतान और 15 प्रतिशत ब्याज किसानों को देनें के लिए कहा जायेगा और फिर भी अगर कोई मिल इसे देने में चुकती है तो उसपर कड़ी कार्रवाई होगी। आन्दोलन का नेतृत्व धनाजी चुडमुंगे, शिवाजीराव माने और बी.जी.पाटिल ने किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here