मंड्या की चीनी मिलों को जुलाई में गन्ना पेराई शुरू करने के लिए कहा गया

250

मंड्या : जिले की सभी पांच निजी चीनी मिलों को मंगलवार को निर्देश दिया गया कि, वे जुलाई के मध्य से गन्ना पेराई के लिए गतिविधियों को शुरू करें। सूचना और जनसंपर्क विभाग द्वारा मंगलवार को जारी एक विज्ञप्ति के अनुसार, सत्र 2020-21 सीजन के लिए गन्ना पेराई गतिविधियों से संबंधित उपायुक्त कार्यालय में एक बैठक बुलाई गई थी। उपायुक्त एम. वी. वेंकटेश ने मिलों के प्रतिनिधियों से कहा कि, वे जुलाई के दूसरे सप्ताह में पेराई गतिविधियों को शुरू करने के उपाय शुरू करें।

डीसी ने मद्दुर के पास कोपा में स्थित एनएसएल शुगर्स और चामुंडेश्वरी शुगर्स (चाम शुगर्स) को निर्देश दिया कि, वे 25 जून से पहले गन्ना उत्पादकों का बकाया चुकाएं। दोनों मिलों ने किसानों से 2019-2020 सीजन में खरीदी गई उपज के लिए अभी तक भुगतान नही किया है। जिले में कुल सात चीनी मिलें हैं। उनमें से, राज्य सरकार के स्वामित्व वाली मैसूर शुगर कंपनी लिमिटेड (मायशुगर) और पांडवपुर में पांडवापुरा सहकारी मिल (PSSK) कुछ सालों से बंद हैं। शेष निजी मिलें हैं। PSSK को हाल ही में बागलकोट जिला स्थित निरानी शुगर्स ने लीज पर लिया है।

खाद्य और नागरिक आपूर्ति उप निदेशक, कुमुद शरथ, कृषि के संयुक्त निदेशक, चंद्रशेखर, और अन्य उपस्थित थे।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here