आगमी गन्ना पेराई सत्र में चीनी मिलों के सामने हो सकती है गन्ना कटाई मजदूरों की कमी

3300

कोल्हापुर : राज्य के अधिकांश मिलों के सामने 2020-2021 चीनी सीजन में कोरोना महामारी प्रकोप के साथ साथ गन्ना कटाई मजदूरों की कमी की चुनौती होगी। प्रादेशिक साखर सहसंचालक एन.आर.निकम की मौजुदगी में हुई चीनी मिल प्रतिनिधियों की बैठक में यह बात कही गई। निकम द्वारा कार्यभार संभालने के बाद इस चीनी मौसम की समीक्षा करने के लिए बैठक बुलाई गई थी।

अक्टूबर से सीजन शुरू करने के आदेश के बावजूद उम्मीद है की, नवंबर में गन्‍ने की कटाई शुरू होगी। कई मिलर्स ने बैठक में कहा की, कोरोना महामारी के कारण इस सीजन में कटाई मजदूर मिलना काफी मुश्किल होगा। जादातर गन्‍ना कटाई मजदूर बीड, उस्मानाबाद, नासिक, चालीसगांव आदि जगहों से आते है, और वहां कोरोना महामारी का प्रकोप काफी बढ गया है। नतीजन कुछ मिलों ने अभी तक अनुबंध पर हस्ताक्षर नही किए है। बैठक में कहा गया की, 14 दिनों के लिए जिले के बाहर के लोगों को क्‍वारंटाईन किया जाता है, ऐसे में मजदूर कैसे उपलब्ध किए जाए? यह एक बडा सवाल है। मिलर्स ने ऐसी स्थिती में चीनी आयुक्‍त कार्यालय को रास्ता खोजने का अनुरोध किया। इस बैठक में सभी चीनी मिलर्स की ओर से जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपने का फैसला भी लिया गया। निकम ने बैठक में गन्‍ने की उपलब्धता, एफआरपी भुगतान स्थिती, चीनी निर्यौं और अधिशेष स्टॉक आदि की समीक्षा की।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here