27 चीनी मिलें सहित 85 कंपनियों ने उत्तर प्रदेश में तेज कर दिया हैंड सैनिटाइजर का उत्पादन

285

लखनऊ: कोरोना वायरस का मामला बढ़ता ही जा रहा है। इसके साथ ही सरकार और प्रसाशन भी इसका डटके सामने कर रहे है। कोरोना के महा प्रकोप में हैंड सैनिटाइजर संजीवनी के रूप में काम कर रही है। देशभर में इसकी बड़ी मांग है। चीनी मिलों को हैंड सैनिटाइजर का ज्यादा से ज्यादा उत्पादन करने को कहा गया है। उत्तर प्रदेश की चीनी मिलें हैंड सैनिटाइजर के उत्पादन में सबसे आगे हैं। हैंड सैनिटाइजर का उपयोग कोरोनो वायरस से लड़ाई में हाथों को साफ रखने के लिए किया जाता है।

प्राप्त आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक उत्तर प्रदेश में हैंड सेनिटाइजर का उत्पादन 85 कंपनियां कर रही हैं जिसमें 27 चीनी मिलें, 12 डिस्टलरियां, 37 सैनिटाइजर कंपनीज, और 9 अन्य संसथान शामिल है।

ये कंपनियां हैंड सेनिटाइजर का उत्पादन लगातार बढाती ही जा रही है। फिलहाल में, ये कंपनियां राज्य में प्रति दिन 2,00,000 लीटर सैनिटाइजर तैयार कर रही हैं।

कोरोना वायरस के प्रकोप के बाद, मार्केट में अब तक कुल 25,76,300 लीटर सैनिटाइजर सप्लाई किया गया है। राज्य सरकार सैनिटाइजर उद्योग को बढ़ावा देने के लिए हर मुमकिन कोशिश कर रही है। राज्य में अब तक लगभग 34,73,050 लीटर सैनिटाइजर का उत्पादन किया जा चूका है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here