चीनी मिलों पर 500 करोड़ का भुगतान बकाया

761

 

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये

चीनी की बिक्री नहीं होने से चीनी मिलें वित्तीय संकट में फंस गई हैं।

अहमदनगर / नासिक : चीनी मंडी

चीनी की बिक्री न होने से चीनी मिलों को वित्तीय कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। इसलिए, एफआरपी का बकाया लगातर बढ़ रहा है। अहमदनगर और नासिक जिले में सहकारी और निजी मिलों द्वारा गन्ना किसानों के लिए 500 करोड़ रुपये की राशि बकाया है। नगर के गणेश, केदारेश्वर, राहुरी के डॉ. बा. बा.तनपुरे, जय श्रीराम इन चार मिलों की संपती को जब्त करने की प्रक्रिया राजस्व प्रशासन ने शुरू कर दी है। इन चार मिलों के पास किसानों का लगभग 82 करोड़ रुपये बकाया हैं।

चीनी मिलें खेतों से गन्ना काट रहे हैं और उन्हें क्रशिंग कर रहे हैं। लेकिन गन्ना किसानों को समय पर भुगतान नहीं कर रहे हैं। पिछले महीने, 3.5 ट्रिलियन रुपये का एफआरपी बकाया था, अब यह 500 करोड़ हो गया है। नगर और नासिक जिले में गन्ना मिलों ने अब तक किसानों को 1,781 करोड़ रुपये का भुगतान किया है। ज्ञानेश्वर, कोपरगाँव, मूला, संगमनेर, संजीवनी सहकारी मिलों ने गन्ना किसानों का सभी पैसा समय पर दिए हैं। अम्बालिका निजी फैक्ट्री द्वारा किसानों के 88 करोड़ रूपए अभी तक नही दिए गये है। प्रवरा में विखे पाटिल मिल के पास 80 करोड़ रुपये का बकाया है। इस मिल ने आज तक किसानों को एफआरपी का 50% दिया है।

चीनी आयुक्त द्वारा आदेश दिया गया है कि, एफआरपी के भुगतान में नाकाम चीनी मिलों पर कार्रवाई की जाए। इसलिए, गणेश, केदारेश्वर, तनपुरे , जय श्रीराम जैसी इन मिलों पर जब्ती की कार्रवाई शुरू की गई है। प्रवर फैक्ट्री चलाने वाले गणेश प्लांट के पास 17.61 करोड़ की बकाया राशि है। तो, केदारेश्वर पर 20 करोड़ रुपये बकाया हैं, तनपुरे में 27.66 करोड़ रुपये, और जय श्रीराम को 16 करोड़ 64 लाख रुपये की बकाया राशि है। प्रारंभ में इन चीनी मिलों की, चीनी, बगास और अन्य उप-उत्पादों को बेचा जाएगा। उसके बाद, किसानों को मिलों की अचल संपत्ति की बिक्री से भुगतान करना होगा। शेष राशि पर 15% ब्याज देना होगा।

एक करोड़ 12 लाख क्विंटल चीनी का उत्पादन

जिले में निजी और सहकारी मिलों ने अब तक लगभग 12.5 मिलियन क्विंटल चीनी का उत्पादन किया है। पेराई सत्र एक माह तक जारी रहेगा। चीनी उत्पादन इसमें और इजाफा करेगा। अंबाला के सबसे बड़े निजी मिलर ने अब तक 13,69,000 क्विंटल चीनी का उत्पादन किया है। थोरात को-ऑपरेटिव फैक्ट्री ने 9,53,000 क्विंटल चीनी का उत्पादन किया है।

डाउनलोड करे चीनीमंडी न्यूज ऐप:  http://bit.ly/ChiniMandiApp  

SOURCEChiniMandi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here