देश में अब तक हुआ 169.85 लाख टन चीनी उत्पादन

242

नई दिल्ली: देशभर की चीनी मिलों में 15 फरवरी माह के मध्य तक 169.85 लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ है, जो पिछले साल के मुकाबले काफी कम बताया जा रहा है।

इंडियन शुगर मिल्स एसोसिएशन (इस्मा) के अनुसार, इस साल 15 फरवरी तक देशभर की मिलों ने 169.85 लाख टन चीनी उत्पादन किया, जबकि पिछले सीजन की समान अवधि में यह उत्पादन 219.66 लाख टन था। चीनी सीजन 2019-20 में जिन 449 चीनी मिलों ने पेराई शुरू की थी, उनमें से 23 चीनी मिल अब तक पेराई बंद कर चुकी हैं। इसकी वजह गन्ने की कम आपूर्ति को बताया जा रहा है। पिछले साल 521 चीनी मिलों ने पेराई की थी, जिनमें से 19 मिलों ने पिछले साल की इस तारीख तक अपनी पेराई बंद कर दी थी।

चीनी उत्पादक राज्यों की बात करें तो, महाराष्ट्र में 15 फरवरी तक 43.38 लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ, जबकि पिछले साल इसी अवधि में 82.98 लाख टन का उत्पादन हुआ था। इस सीजन में संचालित 143 मिलों में से आठ चीनी मिल अपनी पेराई बंद कर चुके हैं। पिछले साल 193 मिलों ने काम किया था यानी इस साल महाराष्ट्र में 50 चीनी मिलें बंद रहीं, जिसकी वजह गन्ने की कमी को बताया जा रहा है। उत्तर प्रदेश में 119 चीनी मिलें चालू हैं, जिनमें 15 फरवरी तक 66.34 लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ है, जबकि पिछले साल की इसी तारीख को 117 मिलों ने 63.93 लाख टन का उत्पादन किया था। कर्नाटक में फरवरी मध्य तक कुल 63 मिलों ने 30.80 लाख टन चीनी उत्पादन किया, जबकि पिछले साल इस तारीख तक 66 मिलों ने 38.74 लाख टन चीनी उत्पादित की थी। मौजूदा सीजन में यहां की 63 चीनी मिलों में से 13 चीनी मिलों ने 15 फरवरी तक पेराई बंद कर दी है।

इस साल बिहार ने फरवरी मध्य तक 5.08 लाख टन चीनी का उत्पादन किया है। वहीं, गुजरात में इस साल 15 फरवरी तक 15 मिलों में 5.95 लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ, जबकि पिछले साल 16 चीनी मिलों ने समान अवधि में 7.78 लाख टन चीनी का उत्पादन किया था। तमिलनाडु में 21 चीनी मिलों ने अब तक 2.60 लाख टन चीनी का उत्पादन किया है, जबकि गत वर्ष इसी तारीख को 32 चीनी मिलों ने 3.85 लाख टन चीनी उत्पादित की थी। आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में कुल 18 मिलों ने इस साल 15 फरवरी तक 3.06 लाख टन चीनी उत्पादन किया, जबकि पिछले साल इसी तारीख को 25 मिलों ने 4.50 लाख टन चीनी उत्पादित की थी। इस सीजन में संचालित 18 में से दो चीनी मिलों ने 15 फरवरी तक अपनी पेराई समाप्त कर दी है।

उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा और मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़ में 15 फरवरी तक क्रमशः 2.41 लाख टन, 3.72 लाख टन, 3.51 लाख टन और 2.76 लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here