चीनी मिलों की रिकवरी में दर्ज की गई गिरावट

80

महाराजगंज, उत्तर प्रदेश: कोरोना काल में एक तरफ जहां मिलों ने बिना रुके रिकॉर्ड पेराई की, वही दूसरी तरफ चीनी रिकवरी घटने से मिलों को नुकसान उठाना पड़ रहा है।

लाइव हिंदुस्तान डॉट कॉम में प्रकाशित खबर के मुताबिक, जिले की प्रमुख चीनी मिल आईपीएल सिसवा को प्रति क्विंटल 10.86 किलो ही चीनी रिकवरी मिला है। जबकि, पेराई सीजन 2019-20 में जिले की सिसवा चीनी मिल ने 29 लाख 77 क्विंटल गन्ना खरीदा था, और 11.07 किलो चीनी परता प्राप्त हुआ था।

पेराई सीजन 2020-21 में आईपीएल द्वारा 23 लाख 62 हजार क्विंटल गन्ना खरीदा गया। लेकिन गन्ने की पेराई में मिल को प्रति क्विंटल 10.86 किलो ही चीनी परता मिला है। वहीं जेएचवी गड़ौरा को प्रति क्विंटल 9.30 किलो चीनी रिकवरी मिला है। मिल प्रबंधन द्वारा अगले सीजन में परता बढ़ाने के लिए प्रयास किये जा रहे है।

चीनी मिलों का कहना है की प्रजातियों के अच्छे चयन से भी नहीं बड़ी चीनी रिकवरी।

व्हाट्सप्प पर चीनीमंडी के अपडेट्स प्राप्त करने के लिए, कृपया नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें.
WhatsApp Group Link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here