शुगर टैक्स से दक्षिण आफ्रिका की अर्थव्यवस्था पर पड़ा गंभीर असर

112

केप टाउन: दक्षिण आफ्रिका में 2018 में पेश किये गये शुगर टैक्स के सामाजिक-आर्थिक प्रभाव पर एक नई रिपोर्ट के अनुसार, इस टैक्स का चीनी उद्योग के साथ-साथ व्यापक अर्थव्यवस्था और नौकरियों पर विनाशकारी प्रभाव पड़ रहा है। आपको बता दे की, चीनी टैक्स ऐसे समय में लागू किया गया था जब चीनी उद्योग पहले से ही सूखे, उत्पादन लागत में वृद्धि और सस्ते चीनी आयात सहित अन्य गंभीर प्रतिकूल परिस्थितियों से जूझ रहा था।

स्थानीय मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, व्यापार और उद्योग की पोर्टफोलियो समिति के अनुरोध पर राष्ट्रीय आर्थिक विकास और श्रम परिषद (NEDLAC) द्वारा कमीशन ‘चीनी बाजार उद्योग पर स्वास्थ्य संवर्धन लेवी का आर्थिक प्रभाव’ शीर्षक वाली रिपोर्ट से पता चला है कि, 2019 तक चीनी टैक्स के कारण संपूर्ण अर्थव्यवस्था में कुल 16,621 नौकरी का नुकसान हुआ। साथ ही अर्थव्यवस्था में निवेश में R653 मिलियन की गिरावट और अकेले 2019 में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में चीनी उद्योग के सकल मूल्य वर्धित (जीवीए) योगदान में R1.19 बिलियन की गिरावट आई है। रिपोर्ट से यह भी पता चलता है कि,चीनी टैक्स के लागू होने से चीनी उद्योग के 9 154 नौकरियों पर पानी फेर दिया है, जो इस उद्योग से जुड़े कुल कर्मचारियों की संख्या का लगभग 10% हिस्सा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here