उत्तर प्रदेश में गन्ना पेराई सीजन पहुंचा चरम पर…

322

सहारनपुर : मुजफ्फरनगर में गन्ना पेराई सीजन अपने चरम पर पहुंच गया है। मिलें पेराई और किसान गन्ना जल्द से जल्द मिल को भेजने के काम में व्यस्त है। कई मिलों ने इस सीजन में किसानों का बकाया भुगतान समय पर किया है, जिससे किसानों में ख़ुशी का माहोल बना हुआ है। रिकवरी के मामले में कई मिलें आगे है, तो कई पिछड़ गई है। इस सीजन में जनपद की खाईखेड़ी चीनी मिल रिकवरी में मंडल में सबसे आगे है।

Amarujala.com में प्रकाशित खबर के मुताबिक, मिल की रिकवरी का औसत रिकॉर्ड 11.67 प्रतिशत रहा है, जबकि गांगनौली चीनी मिल औसत 9.05 फीसदी रिकवरी के साथ सबसे पीछे है।

सहारनपुर मंडल में कोशा- 0238 का गन्ने का रकबा सबसे ज्यादा है। जिसका सीधा असर मिलों के रिकवरी पर दिखाई दे रहा है। मंडल की चीनी मिलों में औसत चीनी रिकवरी 10 फीसदी से अधिक है। सहारनपुर मंडल में तीनों जनपद में मुजफ्फरनगर जिले की मिलों की औसत रिकवरी 10.63 प्रतिशत है। शामली जनपद में 10.40 प्रतिशत जबकि सहारनपुर जनपद में औसत रिकवरी 9.64 फीसदी है। ज्यादा रिकवरी के चलते कई चीनी मिलों का प्रबंधन खुश अहि, वाही कम रिकवरी से कई मिलों का प्रबंधन परेशान है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here