गन्ना किसानों का आरोप मुख्यमंत्री अपने वादे को निभाने में रहे हैं विफल

218

पोंडा:चीनी मंडी

बकाया भुगतान को लेकर गन्ना किसानों ने गोवा की संजीवनी सहकारी चीनी मिल के बाहर आज विरोध प्रदर्शन करने का फैसला लिया है। उन्होंने आरोप लगाया कि, राज्य के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत गन्ने के कुल बकाया में से 70% भुगतान करने के अपने वादे को निभाने में विफल रहे हैं और कहा कि किसानों को केवल 35% का बकाया प्राप्त हुआ है। पिछले महीने मिल में अपनी यात्रा के दौरान, सावंत ने किसानों को आश्वासन दिया था कि, संजीवनी मिल उनसे गन्ना खरीदेगी और उत्पादन की कीमत का 70% उन्हें गन्ना आपूर्ति होने के 15 दिनों के भीतर भुगतान किया जाएगा।

गन्ना की कमी सहित कई कारणों के वजह से संजीवनी चीनी मिल इस पेराई सत्र में नहीं चल पाई है।और राज्य का गन्ना पडोसी राज्य कर्नाटक में भेजा गया है। आपको बता दे, बंद संजीवनी चीनी मिल अगले पेराई सत्र को फिर से शुरू करने की मांग को लेकर किसानों ने आंदोलन करने की धमकी दी थी और सरकार से इस पर और उनकी लंबित मांगों पर लिखित आश्वासन देने की मांग की है। विभिन्न कठिनाइयों के कारण गोवा के किसान अपने गन्ने को कर्नाटक भेजने का विरोध कर रहे हैं।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here