गन्ना बकाया की आस में किसान लगा रहे है चीनी मिलों के चक्कर

151

सीतापुर, 3 अगस्त: एक तरफ़ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ चीनी मिलों के संदर्भ में स्पष्ट गाइडलाइन बनाकर किसानों का गन्ना बकाया का पैसा समय पर चुकाने के लिए डेडलाइन तय कर रहे है वहीं दूसरी तरफ़ चीनी मिलों में गन्ना बकाया के पैसों के लिए किसान मिलों के चक्कर काट रहे है। मामला जुड़ा है सीतापुर से सटे इलाक़े की बिसवां चीनी मिल का। जब से इस चीनी मिल ने पैराई सत्र पूरा किया तभी से यहाँ किसानों के गन्ना का बकाया चल रहा है। इस चीनी मिल ने गन्ना किसानों को अन्तिम बार मई में बकाया दिया था लेकिन आधा अधूरा पेमेंट किया और किसानों से कहा बाक़ी पैसा बाद में देंगे।

गन्ना किसान मंगतराम ने कहा कि मुझे 20 मई को गन्ने का बकाया पैसा दिया गया लेकिन आधा अधूरा। बाक़ी पैसों के लिए कहा गया कि बाद में देंगे लेकिन आज दो माह से अधिक का समय हो गया लेकिन पैसा नहीं मिला। गन्ना किसान रामचन्द्र ने बताया कि हमारा 13 दिनों का पैसा बकाया है लेकिन चीनी मिल प्रबंधन रुपया देने में आनाकानी कर रहा है।

चीनी मिल हम ग़रीबों का पैसा रोककर बैठा है और कोई सुनने वाला नहीं है। मिल प्रबंधन ने फ़ैक्टरी यूनियन के लोगों को भी अपने प्रभाव में ले रखा है, हमारी यहाँ सुनवाई नहीं है। चीनी मिल यूनियन के लोग प्रबंधन के हाथों की कठपूतली बने हुए है। केन यूनियन के नेता राजकिशोर खुद इस समय शुगर फैक्ट्री के प्रभाव में है। उनको नेता हमने चुना और पैरवी चीनी मिल प्रबंधन की कर रहे है। यूनियन नेता राजकिशोर से जब हमारे संवादाता ने बात की तो उनका कहना था कि मिल ने अधिकांश किसानों का पेमेंट कर दिया है। जिनका बकाया है वो बहुत थोड़ा है। हमारी मिल प्रबंधन से बात जारी है जल्द ही सबका बकाया दिला देंगे । राजकिशोर ने कहा कि अन्य फ़ैक्टरियों की तुलना में हमारे यहाँ समय पर किसानों का बकाया समय पर दिया जा रहा है। बगल के जिले में तो अभी तक दिसंबर और मार्च तक का पेमेंट भी नहीं हुआ। चीनी मिल प्रबंधन से बात करने पर उनका कहना था कि कुछ किसानों का गन्ना बकाया है। यथा शीघ्र दिया जा रहा है। जैसे-जैसे चीनी बिकेगी वैसे ही पेमेंट किसानों के खातों मे डाल दिया जाएगा।

गन्ना किसान मोहर सिंह ने कहा कि हमें घर में पैसों की ज़रूरत है इसलिए करें तो क्या करें। इस समय धान की रोपाई हो रही है। हमें खाद, बीज और अन्य कामों के लिए पैसो की ज़रूरत है। रक्षाबंधन आने वाली है। पैसों का इन्तजाम हो नहीं रहा शिकायत करें तो किसे करें।

सीतापुर के लोकसभा सांसद राजेश वर्मा से जब गन्ना क़िसानों के बकाया के मसले पर बात की तो उनका कहना था कि प्रदेश के मुख्यमंत्री किसानों के कल्याण और विकास के लिए गंभीर है । प्रशासन को साफ़ निर्देश दे रखे है जो भी चीनी मिल गन्ना किसानों का बकाया देने में आनाकानी करेगी उनके खिलाफ शख़्स कार्यवाई होगी। सांसद ने कहा कि वो खुद भी चीनी मिल प्रबंधन से बात करेंगे और राखी के त्योंहार के समय में किसानों को उनका पैसा समय पर मिले इसके लिए चीनी मिल प्रबंधन को बाध्य करेंगे।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here