उत्तर प्रदेश: गन्ने का भाव 500 रूपए प्रति क्विंटल करने की मांग

288

धामपुर: भारतीय किसान संघ (भाकियू) ने पेराई सत्र के आरंभ होने से पूर्व गन्ने का भाव प्रति क्विंटल 500 रुपए करने की मांग की है। साथ ही उन्होंने प्रदेश के गन्ना आयुक्त से चीनी मिलों में गन्ना पर्चियों के वजन की पुरानी व्यवस्था को भी लागू करने का अनुरोध किया। संघ के कार्यकर्ताओं ने ऐसा न करने पर गन्ना विभाग के अधिकारियों के घेराव की चेतावनी दी है।

किसानों की इस बैठक में ब्लाक अध्यक्ष हरिराज सिंह जाट ने कहा कि जिले में कई मिलों ने बकाया गन्ना भुगतान नहीं किया है। उन्होंने प्रदेश के गन्ना आयुक्त की कार्यशैली को किसान विरोधी बताया। उन्होंने गन्ना आयुक्त से मिल गेट की पर्चियों के वजन की पुरानी व्यवस्था को लागू कराने की मांग की है।

किसानों ने सरकार से बिजली की बढ़ी दरों को समाप्त करने और फसलों की सिंचाई के लिए मुफ्त में बिजली सुविधा उपलब्ध कराने की मांग की। साथ ही वरिष्ठ किसानों को पेंशन भी दिये जाएं। किसानों ने प्रदेश के परिवहन राजयमंत्री अशोक कटारिया से वरिष्ठ किसानों के लिए रोडवेज की बसों में फ्री यात्रा की सुविधा मुहैया कराने की मांग की है। बैठक में सत्यवीर, विजयपाल, छतरपाल, राजेंद्र सिंह, महेंद्र, महेशचंद, राजवीर सिंह, तेजपाल सिंह, गरीब सिंह, लोकेंद्र उपस्थित रहे।

उत्तर प्रदेश में गन्ना किसान चिंतित हैं क्योंकि उनका पिछला बकाया अभी तक चुकाया नहीं गया है, और नया सीजन जल्द ही शुरू होने वाला है। गन्ना किसानों का दावा है कि उनकी वित्तीय स्थिति दिन-ब-दिन बिगड़ती जा रही है क्योंकि उन्हें मिलों से बकाया नहीं मिला है और वे न तो अपने परिवार का भरण पोषण कर पा रहे हैं, न ही अपने बच्चों की स्कूल फीस भर पा रहे हैं।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here