उत्तर प्रदेश में बेमौसम बारिश से बढ़ी गन्ना किसानों की मुसीबत

217

शामली (उत्तर प्रदेश): झिंझाना के कई इलाकों में बे-मौसम की बारिश ने स्थानीय गन्ना किसानों की मुसीबतों में इजाफा कर दिया है। बारिश की वजह से कच्चे रास्तों और चीनी मिलों के तौल केंद्रों पर कीचड़ भर गया है, जिससे गन्ना लदे ट्रक और ट्रॉलियों के आवागमन में भारी मुश्किलें पैदा हो रही हैं।

कई इलाकों में भारी बारिश होने के कारण गन्ना तौल केंद्रों पर कीचड़ जमा हो गया, जिसकी वजह से वहां गन्ने की सप्लाई थम गई है। गन्ना लेकर मिलों में जाने वाले कई ट्रक कीचड़ में फंस गए हैं तथा तौल केंद्रों पर भी जाम जैसी स्थिति बन गई है। किसानों को लंबी-लंबी लाइन लगाकर तौल केंद्रों पर खड़ा रहना पड़ रहा है। झिझाना क्षेत्र के तमाम तौल केंद्रों पर बारिश का पानी जमा होने से कीचड़ भर गया, जिसके चलते ट्रकों में गन्ना नहीं जा पा रहा है। हर सेंटर पर गन्ने के ट्रक फंस गए हैं। रंगाना, दरगाहपुर, पटनी परतापुर सहित कई तौल केंद्रों पर कीचड़ जमा होने के चलते गन्ना तौल का काम प्रभावित हो रहा है। किसान इन केंद्रों पर अपना गन्ना तौल कराने के लिए लंबी-लंबी लाइन लगाकर घंटों इंतजार करने को मजबूर हैं।

जाहिर है, सरकार द्वारा दो साल से गन्ने के दाम न बढ़ाये जाने और मिलों से बकाया भुगतान समय पर न मिलने के कारण पहले से ही परेशान क्षेत्र के गन्ना किसानों की मुसीबत इस बे-मौसम बारिश ने और बढ़ा दी है। अनुमान है कि अगले दो-तीन दिनों तक बारिश न होने तथा तौल केंद्रों का कीचड़ सूख जाने के बाद ही गन्ना किसानों को इस परेशानी से निजात मिल सकेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here