चीनी मिल के जीएम-डीजीएम को आंदोलनकारियों ने बनाया बंधक

404

बुलंदशहर : उत्तर प्रदेश में गन्ना बकाया भुगतान करने में कई सारी मिलें विफल रही है, जिससे किसानों में काफ़ी आक्रोश है। राज्य सरकार के निर्देश के बावजूद कई मिलों ने किसानों को एफआरपी का भुगतान नही किया है।अब बुलंदशहर में अनामिका चीनी मिल द्वारा किसानों को करोड़ों रुपये का बकाया भुगतान न करने पर शुक्रवार को किसान सभा के आंदोलनकारियों ने मिल के मुख्य महाप्रबंधक और डीजीएम को बंधक बनाकर सात सूत्रीय मांगों का ज्ञापन सौंपा।

अनामिका चीनी मिल पर किसानों का करीब 54 करोड़ रूपये बकाया है। किसान आरोप लगा रहे है की, योगी सरकार ने चुनावों में गन्ना मूल्य का 15 दिन में भुगतान करने का वादा किया था, लेकिन सरकार का यह वादा खोखला साबित हुआ है। जिसके चलते किसानसभा के प्रदेश संयुक्त सचिव चंद्रपाल सिंह की अगुवाई में सैकड़ों किसान मिल के मुख्य गेट पर पहुंचे और वहां महापंचायत शुरू हुई। शाम करीब चार बजे जीएम केपी सिंह और डीजीएम केन किसानों के बीच पहुंचे। किसानों ने दोनों अधिकारियों को बंधक बनाया और अपने बीच बैठा लिया। जीएम केपी सिंह ने किसानों से एक माह के भीतर 40 करोड़ का भुगतान करने का दावा किया, तब आंदोलनकारियों का गुस्सा कुछ हद तक कम हुआ।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here