बलरामपुर जिले के गन्ना क्रय केन्द्र ललिया, मथुरा एवं शिवपुरा से सम्बद्ध 80 ग्रामों के गन्ना कृषकों को मिला सहकारी गन्ना समितियों में निर्वाचन का अधिकार

1513

लखनऊ: प्रदेष के आयुक्त, गन्ना एंव चीनी/निबन्धक, सहकारी गन्ना एवं चीनी मिल समितियाँ, उत्तर प्रदेष, श्री संजय आर. भूसरेड्डी ने बताया कि बलरामपुर जिले के क्रय केन्द्र-ललिया, मथुरा एवं षिवपुरा से सम्बद्ध 80 ग्रामों को औपचारिक रूप से सहकारी गन्ना समिति, बलरामपुर में शामिल (पंजीकृत) कर लिया गया है।

इन गाॅवों का पंजीकरण औपचारिक रूप से बलरामपुर समिति मे हो जाने के बाद इन गाॅवों के पंजीकृत गन्ना कृषक सदस्यों को सहकारी गन्ना समितियों के निर्वाचन में प्रतिभाग का अधिकार मिलेगा, साथ ही गन्ना समिति, बलरामपुर की सामान्य निकाय व प्रबन्ध कमेटी में इन गाॅवों के कृृषक अपने प्रतिनिधि व संचालक सदस्य भी चुन सकेंगें।

श्री भूसरेड्डी ने बताया कि इस मुक्त क्षेत्र के गन्ना कृषक वर्ष 1994 से गन्ना समिति, बलरामपुर के माध्यम से गन्ना आपूर्ति तो कर रहे थे, परन्तु इन ग्रामों का गन्ना समिति बलरामपुर में वैधानिक पंजीकरण न होने के कारण समिति निर्वाचन में इनका प्रतिनिधित्व नहीं हो पा रहा था, इसलिये गन्ना आयुक्त/निबन्धक, सहकारी गन्ना एवं चीनी मिल समितियाँ, उत्तर प्रदेष, द्वारा सहकारी गन्ना समिति, बलरामपुर मे सम्मिलित किये जाने की कृषकों की मांग तथा सहकारी गन्ना विकास समिति लि., बलरामपुर की सामान्य निकाय द्वारा सर्वसम्मति से पारित प्रस्ताव और कृषकों के निर्वाचन के अधिकार के दृष्टिगत यह निर्णय लिया गया है, जिससे इन 80 ग्रामों के किसान सहकारी गन्ना समिति के निर्वाचन मे भाग ले सकेगें तथा वैधानिक रूप से गन्ना समिति से इन ग्रामों के किसानों को गन्ना समिति के माध्यम से कृषि निवेष भी उपलब्ध हो सकेंगें। इस निर्णय से इन ग्रामों के कृषकों को गन्ना विकास विभाग सरकार द्वारा विभिन्न योजनाओं के माध्यम से संचालित गन्ना विकास कार्यक्रमों का लाभ भी प्राप्त होगा।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here