गन्‍ना किसानों को राहत: मिलेगा लगभग 40 करोड़ रुपये ब्याज

1450

बिजनौर: गन्‍ना बकाया भुगतान में देरी की वजह से परेशान उत्तर प्रदेश के गन्‍ना किसानों को हाईकोर्ट के एक फैसले से बडी राहत मिली हैैं। भुगतान के मामले में देरी के बाद इलाहाबाद हाईकोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार को निर्देश दिया है कि, किसानों के बकाया को 1 माह के भीतर 15 फीसदी ब्याज के साथ वापस करें।

खबरों के मुताबिक, बिजनौर जिले के गन्‍ना किसानों का इस साल चीनी मिलों पर लगभग 40  करोड़ रुपये ब्याज बैठता है। भुगतान तय समय नही होने से किसानों को काफी आर्थीक कठिनाईयों का सामना करना पड रहा है, लोगों से पैसे उधार लेकर उनको दिन कांटने पड रहे है, लेकिन अब गन्‍ना बील ब्याज समेत मिलने के आसार नजर आ रहे है।

बिजनौर जिले की बात की जाए तो, जिले में करीब तीन लाख 42 हजार किसान गन्ने की खेती से जुड़े हैं। पिछले साल किसानों ने 3,136 करोड़ रुपये का गन्ना बेचा था। किसानों का करीब 375 करोड़ रुपया मिलों पर अब भी बकाया है। जिले में नौ चीनी मिल हैं। इनमें से धामपुर, नजीबाबाद, बहादरपुर, बुंदकी ने ही पुरा भुगतान किया है। बिजनौर, चांदपुर, बिलाई, स्योहारा, बरकातपुर पर किसानों का अब भी बकाया है।

राज्य में अभी भी मिलों के पास 5,550 करोड रूपये बकाया है, पिछले चार से पांच दिनों में राज्य सरकार द्वारा कठोर एक्शन लेने के बाद कई मिलों ने करोड़ो रूपयों का भुगतान किया है।

चीनी मिल गन्ना खरीद बकाया ब्याज (आंकड़े करोड़ रुपये में)
धामपुर: 3.26
स्योहारा: 1.99
बिलाई: 12.76
बहादरपुर:1.84
बरकातपुर: 7.14
बुंदकी: 1.97
चांदपुर: 4.90
बिजनौर: 4.56
नजीबाबाद: 1.30
कुल: 39.75

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here