बकाया भुगतान को लेकर गन्ना किसानों में आक्रोश

780

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये

अंबाला: पंजाब के अंबाला में गन्ना उत्पादक किसान गुस्से में हैं क्योंकि उन्हें अपने गन्ने का बकाया नहीं मिला है, जिसे उन्होंने नरसिंहगढ़ में निजी चीनी मिल को बेचा था। पेराई सत्र खत्म होने के बाद भी गन्ना किसानों को भुगतान का इंतजार है।

नियम यह कहता है कि कारखाने के मालिकों को गन्ने की फसल सौंपने के बाद 14 दिनों के भीतर एफआरपी राशि किसानों के बैंक खातों में जमा कर दी जानी चाहिए, लेकिन मिल ऐसा करने में विफल रही है। खबरों के मुताबिक चीनी मिल ने जनवरी से किसानों को भुगतान नहीं किया है।

2018-19 सीजन के दौरान बेचे गए गन्ने के लिए नरसिंहगढ़ शुगर मिल्स लिमिटेड से 5,795 किसानों को 104.95 करोड़ रुपये के भुगतान का इंतजार है।

नरसिंहगढ़ के सब-डिविजनल मजिस्ट्रेट (एसडीएम) अदिति शर्मा ने मिल प्रबंधन से गन्ना किसानों को रोजाना कम से कम 1 करोड़ रुपये का भुगतान करने के लिए कहा, ताकि जल्द से जल्द बकाया को खत्म किया जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here