गन्ना किसानों ने धरना प्रदर्शन 15 दिनों के लिए टाला

187

पोंडा: गोवा के गन्ना किसानों ने अगले दस दिनों में उनके गन्ना मामले को सुलझाने के आश्वासन मिलने के बाद अपने धरना प्रदर्शन को 15 दिनों के लिए टाल दिया है।

गोवा शुगरकेन कल्टिवेटर्स एसोसिएशन के वाइस चेयरमैन हर्षद प्रभुदेसाई ने कहा कि मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने किसानों के गन्ने के भुगतान का हल ढ़ूंढने और संजीवनी सहकारी चीनी मिल में पेराई भी शुरू करने का आश्वासन दिया है। उन्होंने आगे कहा कि मुख्यमंत्री ने कहा है कि उनके भुगतान में देरी हुई है क्योंकि कर्नाटक के खानापुर में लैला चीनी मिल समय पर भुगतान करने में विफल रहा है।

गन्ना किसानों की मांग है कि उनके गन्ने की पेराई या तो संजीवनी मिल में हो या आधुनिकीकरण के साथ एक नया प्लांट स्थापित किया जाए। फिलहाल संजीवनी चीनी मिल में उत्पादन बंद है, इसलिए यहां के गन्ने को लैला चीनी मिल में पेराई के लिए भेजा गया है।

प्रभुदेसाई ने कहा कि मुख्यमंत्री ने 8 जनवरी को जब चीनी मिल के दौरे पर आए थे, तब उन्होंने किसानों को कहा था कि उनके गन्ने की कीमत का 70 प्रतिशत सप्लाई करने के 15 दिन के भीतर किसानों को दे दिया जाएगा, लेकिन आज हालात एकदम अलग है, किसानों को केवल 30 प्रतिशत ही भुगतान मिले हैं।

एसोसिएशन के वाइस प्रेसिडेंट ने कहा कि चूंकि किसानों को समय पर भुगतान नहीं हो रहा है, इसलिए किसान नई रोपाई नहीं कर रहे। उनके पास नई रोपाई के लिए पूंजी नहीं है। नई रोपाई के लिए जमीन की तैयारी और बीज बोने में बहुत पैसा लगता है। उन्होंने कहा कि गन्ना किसानों को देर से भुगतान मिलने से काफी नाराजगी है। वे इसकी खेती से मुंह मोड़ने लगे हैं।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here