गन्ना किसानों को अगले तीस साल तक गन्ना बेचने के लिए भटकना नहीं पड़ेगा: योगी आदित्यनाथ

639

लखनऊ: रमाला चीनी मिल के विस्तारित प्रोजेक्ट का 4 नवंबर, 2019 को उतर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उदघाटन किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि अब रमाला चीनी मिल की उत्पादन क्षमता इतनी हो गई है कि यहां के गन्ना किसानों को अगले तीस साल गन्ना बेचने के लिए मशक्कत नहीं करनी होगी। इसकी पेराई क्षमता 2750 टीसीडी से बढ़ाकर 5000 टीसीडी की गई है। उन्होंने कहा कि इस मिल में 27 मेगावाट बिजली पैदा की जाएगी और उसे बेचकर किसानों के बकाये का भुगतान किया जाएगा। श्री योगी ने कहा कि अब उनके राज्य के किसानों की आय दोगुनी करने के लिए काम किया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी यहीं चाहते हैं कि उनके देश के किसान और युवा खुशहाल रहें। उत्तर प्रदेश के किसान और युवा अब खुशहाल हैं। राज्य में औद्योगिक विकास के कारण युवाओं को रोजगार के पर्याप्त अवसर मिल रहे हैं।

मिल के उदघाटन के बाद श्री योगी ने किसानों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि पहले राज्य में विकास का अभाव था, इसलिए युवाओं को रोजगार के लिए बाहरी राज्यों में जाना पड़ता था। लेकिन अब यहां सारी सुविधाएं हैं। उन्होंने कहा कि गत साल यहां 119 चीनी मिलें काम कर रही थीं। इस साल तीन और चीनी मिलें शुरु हो रही हैं। साफ है कि युवाओं को ज्यादा से ज्यादा इन मिलों में रोजगार मिलेगा। उत्तर प्रदेश की सरकार ने किसानों के गन्ने के सही दाम के लिए ठोस कदम उठा रही है।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि रमाला चीनी मिल के आधुनिकीकरण औऱ विस्तारीकरण की मांग गत 30 साल से थी लेकिन किसानों की एक नहीं सुनी गई। किसान इससे काफी निराश थे। लेकिन अब वे ज्यादा से ज्यादा गन्ना उगाएंगे, ताकि इससे भारी मात्रा में एथेनॉल बनाया जा सके।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here