गन्ना उत्पादक किसानों ने राष्ट्रिय कृषि मूल्य आयोग के सामने रखी अपनी बातें…

203

पुणे : चीनीमंडी

राष्ट्रिय कृषि मूल्य आयोग के अध्यक्ष प्रो. विजय पॉल शर्मा ने कहा की, आयोग देश के किसानों की माली हालत में सुधार लाने की कोशिशों में जुटा है। हम किसानों से जुड़े विभिन्न कारकों पर चर्चा कर रहें है। हम किसान और उद्योगपति दोनों के बारे में चिंतित है, क्योंकि यदि मिल फायदे में होगी, तभी किसानों को भी फायदा पहुँच सकता है।

गन्ना उत्पादक किसानों ने राष्ट्रिय कृषि मूल्य आयोग के सामने बेबाकी से अपनी बातें रखी। उन्होंने कहा की, क़ानूनी कमियों का फायदा उठाकर गन्ना किसानों को ठगा जा रहा है, इससे निजाद पाने के लिए चीनी मिलें स्थापित करने के लिए लगी हवाई क्षेत्र की पाबंदी को हटाना चाहिए। जब तक मिलों में गन्ने के लिए प्रतिस्पर्धा नही बढ़ेगी, तब तक किसानों को अच्छी कीमत नही मिलेगी।

आयोग ने देश में 2020- 2021 चीनी सीजन के लिए एफआरपी तय करने के लिए वसंतदादा शुगर इंस्टीट्यूट (व्हीएसआई ) में चीनी उद्योग से संबधित कई घटकों से चर्चा की। इस अवसर पर ‘व्हीएसआई’ के महानिदेशक शिवाजीराव देशमुख, चीनी निदेशक उत्तम इंदलकर, उपनिदेशक डी. वाय.गायकवाड, ‘डीएसटीए’ के अध्यक्ष एस.एस.गंगावती, ‘विस्मा’ के कार्यकारी निदेशक अजित चौगुले उपस्थित थे।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here