बिजनौर के नारायणपुर के पास गन्ने की कटाई प्रभावित…

64

बिजनौर: बिजनौर के नारायणपुर के पास मंगलवार को एक तेंदुआ और दो शावकों (cubs) को देखे जाने के बाद गन्ने की कटाई रुक गई है। वन विभाग के कर्मचारियों ने पगमार्कों की जांच के बाद क्षेत्र में एक बड़ी बिल्ली की मौजूदगी की पुष्टि की। बिजनौर के विभागीय वनाधिकारी (DFO) अनिल पटेल ने ग्रामीणों के लिए अलर्ट जारी किया है। डीएफओ पटेल ने कहा, हमने ग्रामीणों से अपील की है कि, वे अकेले खेतों में न जाएं और आवश्यक सावधानी बरतें। हम तेंदुए को खोजने और मानव-वन्यजीव संघर्ष को रोकने के लिए ड्रोन के साथ गन्ने के खेतों का सर्वेक्षण करेंगे। मानव आवासों के पास तेंदुए के घुसने की कई रिपोर्ट आई हैं, जिससे मानव-पशु संघर्ष की स्थिति पैदा हो गई है।

10 दिसंबर को बिजनौर के नहटौर क्षेत्र के टपरौला गांव में गन्ना क्रय केंद्र में एक तेंदुए के देखे जाने के बाद कुछ घंटों के लिए सभी गतिविधियों को रोक दिया गया था। कुछ किसानों ने छिपने के लिए जगह की तलाश में बड़ी बिल्ली को कैमरे में कैद कर लिया। वन कर्मियों का अनुमान है कि गन्ने के खेतों में रहने वाले शावकों सहित लगभग 100 तेंदुए हैं, जहां उन्हें खरगोश, हिरण, सूअर, नीलगाय के बछड़े और अन्य शाकाहारी जैसे पर्याप्त शिकार मिलते हैं। कभी शाकाहारियों को फसलों को नष्ट करने से रोकने में किसान का दोस्त माने जाने वाले तेंदुओं की आबादी कई गुना बढ़ गई है, जो खुद किसान के लिए खतरा साबित हो रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here